जागरण संवाददाता, पिथौरागढ़ : पूर्व सैनिक जन कल्याण समिति के एक शिष्टमंडल ने बुधवार को नए भर्ती निदेशक एआरओ कर्नल अमीय त्रिपाठी से मुलाकात की। इस दौरान शिष्टमंडल ने सैन्य अधिकारियों से पिथौरागढ़ में सेना भर्ती कराए जाने व रानीखेत में विगत फरवरी माह में हुई सेना भर्ती की लंबित लिखित परीक्षा के आयोजन को लेकर चर्चा की।

समिति के अध्यक्ष दान सिंह वल्दिया ने कर्नल त्रिपाठी को पिथौरागढ़ से बाहर सेना भर्ती आयोजन में युवाओं को होने वाली समस्याओं से अवगत कराया और उनसे पिथौरागढ़ स्टेशन के अंदर ही सेना भर्ती आयोजित कराने की मांग की। साथ ही रानीखेत में विगत फरवरी माह में हुई सेना भर्ती की लंबित लिखित परीक्षा के बारे में भी चर्चा की। जिस पर भर्ती निदेशक कर्नल त्रिपाठी ने बताया कि सेना भर्ती की लिखित परीक्षा कोविड-19 के चलते पूरे भारत में रू की हुई है। रोक हटते ही संबंधित युवाओं को कम से कम 20 दिन पहले लिखित परीक्षा के बारे में सूचित कर दिया जाएगा।

पिथौरागढ़ में सेना भर्ती के आयोजन को लेकर कर्नल त्रिपाठी ने इस संबंध में उच्चाधिकारियों व उच्च पदस्थ प्रशासनिक अधिकारियों से विचार-विमर्श करने का भरोसा दिलाया और अपने स्तर से पिथौरागढ़ में भर्ती आयोजन को लेकर पुरजोर कोशिश करने की बात कही। इसके बाद शिष्टमंडल ने स्टेशन हैडक्वार्टर में कर्नल एमएस रावत से मुलाकात की।

इस दौरान उन्होंने कर्नल रावत से स्टेशन की सभी कैंटीन का कलेक्शन करने का समय लगभग एक साथ करने, सभी कैंटीन से पूर्व सैनिकों को ग्रासरी का सामान उपलब्ध कराए जाने, टोकन बुकिंग सिस्टम अपग्रेड करने, नोटिस बोर्ड की सूचना के अनुसार कैंटीन कार्य किए जाने की मांग की। कर्नल रावत ने सभी सुझावों पर अमल करने का आश्वासन दिया। शिष्टमंडल में समिति संयोजक कुंडल मोसाल, उपाध्यक्ष दीवानी चंद शाही, देवराज ज्याला, संरक्षक राम सिंह बिष्ट, मीडिया प्रभारी जितेंद्र सिंह खनका आदि मौजूद रहे।

Edited By: Prashant Mishra