नैनीताल, जेएनएन : हाई कोर्ट ने एनआईवीएच देहरादून में यौन शोषण मामले की सुनवाई करते हुए संस्थान के समीप स्थित मस्जिद के इमाम द्वारा दायर प्रार्थना पत्र को निरस्त कर दिया है।

इमाम द्वारा अपने प्रार्थना पत्र में कहा गया है कि मस्जिद संस्थान के पास स्थित है। वहां पर लोग नमाज पढ़ने आते हैं, लिहाजा उनको वहां आनेजाने की अनुमति दी जाए। इसका विरोध करते हुए न्यायमित्र ललित बेलवाल ने कहा कि उनके आनेजाने से संस्थान की सुरक्षा प्रभावित होगी। सरकार की तरफ से कहा गया कि छोटे बच्चों के लिए अलग से हॉस्टल बनाया जा रहा है। मामले की सुनवाई मुख्य न्यायधीश रमेश रंगनाथन व न्यायमूर्ति आलोक कुमार वर्मा की खण्डपीठ में हुई। एनआईवीएच मेंछात्राओं के साथ छेड़खानी के मामले को लेकर  हाईकोट की खंडपीठ ने पूर्व में एक पिता की चिठ्ठी पर स्वतः सज्ञान लेते हुए सरकार को संगीत टीचर कोे तत्काल सस्पेंड कर  उसके खिलाफ एफआरआई दर्ज करें।

Posted By: Skand Shukla

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप