हल्द्वानी, जेएनएन : कुमाऊं के सबसे सनसनीखेज अवतार सिंह हत्‍याकांड की घटना ने पति-पत्‍नी के संबंधों को तार-तार कर दिया। अवतार की पत्‍नी नीलम व मनीष मिश्रा के बीच अवैध संबंधों के चर्चे आम हो गए थे। एक साल पहले से दोनों के बीच अनैतिक संबंध थे। कुछ माह पहले अवतार ने दोनों को रंगे हाथों पकड़ भी लिया था। जिस पर अवतार व मनीष के बीच काफी विवाद हुआ था। अवतार ने मनीष से हाथापायी तक कर दी थी। करीब चार बार दोनों में मारपीट हुई। इसके बाद भी दोनों ने अवैध संबंधों को कायम रखा और अवतार की हत्या की ही योजना बना डाली। 

आज न्यायालय में दोनों को पेश करेगी पुलिस
भीमताल थाना पुलिस दोपहर में मनीष व नीलम को गिरफ्तार कर अपने साथ भीमताल ले गई। देर रात तक दोनों से पूछताछ की गई। गुरुवार को दोनों को सीजेएम की न्यायालय में पेश किया जाएगा। वहीं, अवतार से लूटे गए जेवर बरामद करने के लिए पुलिस मनीष को रिमांड पर लेने की अनुमति भी मांगेगी। 

तीन दिन पहले रुद्रपुर आ गया था अजय
कोतवाल हल्द्वानी विक्रम राठौर ने बताया कि मनीष व अजय ने इलाहबाद में साथ पढ़ा है। अजय मूल रूप से जौनपुर जिले के ग्राम दौलतिया, थाना मुगराबाद शाहपुर का रहने वाला है। जांच में पता चला कि वह हत्याकांड को अंजाम देने से तीन दिन पहले ही रुद्रपुर मनीष के पास आ गया था। तीन दिन तक दोनों साथ रहकर हत्याकांड को अंजाम देने के लिए रेकी करते रहे। 16 मई को हत्या के बाद वह मनीष के ही घर रुका। 17 मई की सुबह चार बजे वह रुद्रपुर छोड़कर फरार हो गया। 

सलड़ी पहुंचने पर आने लगा था अवतार को होश
पुलिस के मुताबिक नीलम ने 16 मई की दोपहर करीब तीन बजे अवतार को नींद की गोलियां खिला दी थी। जबकि सलड़ी तक ले जाने तक साढ़े सात बज चुके थे। इतना समय बीतने की वजह से अवतार को होश आने लगा था। अवतार ने अद्र्धबेहोशी में उठने की कोशिश भी की, लेकिन पूरी तरह होश आने से पहले ही मनीष व अजय ने मिलकर उनका गला घोंट दिया। 

पेट्रोल भी रुद्रपुर से लेकर आए थे दोनों 
पुलिस के मुताबिक मनीष व अजय ने पांच लीटर पेट्रोल 11 मई को खरीद लिया था। पेट्रोल रुद्रपुर के जाफरपुर मोड़ में स्थित पंप से खरीदा गया। घटना वाले दिन दोनों एक बैग में पेट्रोल रखकर रुद्रपुर से हल्द्वानी आए थे। 

सीसीटीवी कैमरों में कैद हुए नीलम, मनीष व अजय 
मुखानी चौराहे के पास कार पार्क करने के बाद नीलम अकेले पैदल डॉ. नीलांबर भट्ट क्लीनिक तक गई। वहां पर उसे मनीष मिल गया। दोनों के बीच कुछ देर तक बातचीत हुई। चौराहे के पास दोनों के मिलने की फुटेज भी पुलिस को मिल गई हैं। इसके अलावा मुखानी चौराहे से अजय कार लेकर नैनीताल रोड की ओर जाता है। जबकि 30 सेकेंड के बाद पीछे से मनीष निकलता है। कार व बाइक के नैनीताल रोड पर जाने की तस्वीरें भी कोतवाली के कैमरे में कैद हो गई हैं। 

मार्च में ही खरीद ली थी नींद की गोलियां 
मार्च में मनीष अपने मूल गांव नंदोत, थाना फूलपुर, प्रयागराज (इलाहबाद) गया था। 11 मार्च को ही वह अवतार को खिलाने के लिए इलाहबाद से नींद की 10 गोलियां ले आया। पहले नीलम और मनीष ने लड्डू में मिलाकर अवतार को गोलियां खिलाने की योजना बनाई थी, लेकिन इसमें असफल होने की आशंका पर दोनों ने प्लान बदल दिया। 

वाहनों का आना-जाना देख हड़बड़ा गए थे दोनों
पुलिस के मुताबिक मनीष व अजय की योजना अवतार की हत्या कर कार को आग लगाने के बाद खाई में फेंकने की थी। उन्होंने कार को खाई में फेंकने से पहले अवतार को ड्राइविंग सीट पर बैठाने की योजना भी बनाई थी। वहीं, भीमताल रोड पर वाहनों का आवागमन अधिक होने से दोनों हड़बड़ा गए। दोनों ने अवतार को ड्राइविंग सीट के बगल वाली सीट पर छोड़ दिया। आग लगाने के बाद वह कार को खाई में फेंकने से पहले ही भाग निकले।

मारने के बाद लूटे अवतार के जेवर
हत्या करने के बाद मनीष व अजय ने अवतार के गले की चेन व अंगूठियां भी लूटी थी। जिसे बाद में दोनों ने बांट लिया। अब तक पुलिस मनीष से जेवर बरामद नहीं कर पाई है। पुलिस जेवर बरामद करने के लिए मनीष को रिमांड पर लेने की तैयारी कर रही है। 

यह भी पढ़ें : अवतार को पत्‍नी नीलम ने पहले नींद की गोलियां खिलाई, फिर प्रेमी ने गला घोंटकर की हत्‍या

यह भी पढ़ें : खाई में मिला महिला का शव, सिर पर थे चोट के गहरे निशान, हत्‍या की आशंका

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Skand Shukla

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप