जागरण संवाददाता, नैनीताल : प्रदेश सरकार की ओर से कांवड़ यात्रा स्थगित करने की घोषणा के बाद भी यूपी और अन्य राज्यों से कांवडिय़ों के आने की संभावना बनी हुई है। इसे देखते हुए आइजी ने अधीनस्थों को इससे निपटने के लिए खास इंतजाम करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने ईद और आपदा को लेकर भी तैयारियां पुख्ता करने को कहा है। सतर्कता बरतने से ही पहाड़ को कोरोना की तीसरी लहर से बचाया जा सकता है। कोविड नियमों का पालन करने में लापरवाही नहीं करनी चाहिए।

गुरुवार को आइजी अजय रौतेला ने वर्चुअली जिले के कप्तानों के साथ अपराध समीक्षा बैठक ली। इस दौरान उन्होंने तीन वर्ष से लंबित विवेचनाओं को निपटाने के लिए चलाए गए अभियान का विश्लेषण करने के साथ ही अभियान में तेजी लाने की बात कही। महिला अपराधों के बढ़ते आंकड़ों पर चिंता जताते हुए थाना स्तर पर अभियान चलाने को कहा। उन्होंने कांवड़ यात्रा, ईद और बरसात के दौरान आपदा को पुलिस के लिए बड़ी चुनौती बताया। कहा कि हांलाकि प्रदेश सरकार कांवड़ यात्रा स्थगित कर चुकी है, फिर भी यूपी बॉर्डर पर सतर्कता बरती जाए। उन्होंने ईंद पर भी शांति व्यवस्था बनाए रखने के निर्देश दिए। आईजी ने बताया कि साइबर और नशे की रोकथाम को लेकर जल्द नया अभियान चलाकर अपराधियों की धरपकड़ की जाएगी। बैठक से नैनीताल एसएसपी प्रीति प्रियदर्शिनी, यूएस नगर एसएसपी दिलीप सिंह कुंवर, अल्मोड़ा एसएसपी पंकज भट्ट, एसपी पिथौरागढ़ सुखवीर सिंह, बागेश्वर एसपी अमित श्रीवास्तव, चंपावत एसपी लोकेश्वर सिंह जुड़े रहे।

कमलेश पुलिस मैन ऑफ द मंथ

रुद्रपुर एसओजी प्रभारी उपनिरीक्षक कमलेश भट्ट को पुलिस मैन ऑफ द मंथ चुना गया है। भट्ट ने जून में 70 मोबाइल फोन, 205 ग्राम स्मैक, अवैध रायफल, कारतूस, चार हजार पेटी से अधिक अवैध शराब, तीन इनामी अभियुक्तों की गिरफ्तारी समेत अन्य बरामदगी की गई थी। आइजी ने उन्हें एक हजार रुपये नकद और प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया।

Edited By: Prashant Mishra