हल्द्वानी, जेएनएन : अब तो हद हो गई है। लगातार मौतें होने के बावजूद स्वास्थ्य विभाग ने जिम्मेदारी से ही पल्ला झाड़ लिया है। केवल छह मरीजों का डेंगू डेथ ऑडिट करने के बाद चुप्पी साध ली गई है। जबकि अब तक 22 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। जिन छह मरीजों की मौत की ही जांच हुई, स्वास्थ्य विभाग ने इसमें से केवल दो मरीजों को ही डेंगू होने की बात लिखी है। इसमें भी अधिकांश मरीजों का मल्टी ऑर्गन फेल्योर होना बताया गया था। यही नहीं, डेंगू के सीजन में ही एक साथ मल्टी ऑर्गन फेल्योर होने का कारण भी स्पष्ट नहीं किया गया।

निगम ने छोड़ी जिम्मेदारी, डॉक्टरों को लगाया

शहरी क्षेत्रों में नगर निगम ने जागरूकता अभियान चलाने की भी जिम्मेदारी से पल्ला झाड़ लिया। स्वास्थ्य विभाग ने कुछ क्षेत्रों में जागरूकता अभियान चलाया। शुरुआत में अभियान तेजी से चला, लेकिन अब धीमा पड़ गया है। हालांकि मरीजों की संख्या के लिहाज से देखा जाए तो इस अभियान का कोई फर्क पड़ता भी नहीं दिखा। डॉक्टर भी क्षेत्रों में इलाज करने के बजाय घर-घर जाकर लोगों को मच्छरों से बचाव के बारे में जागरूक करते रहे।

क्‍या कहती हैं सीएमओ

डॉ. भारती राणा, सीएमओ नैनीताल ने बताया कि छह मरीजों का डेथ ऑडिट कर लिया था। इसके बाद तीन और मरीजों की जांच हो गई थी। इसमें किसी भी मरीज की डेंगू से मौत नहीं हुई है। एसीएमओ डॉ. रश्मि पंत ने इसकी जांच की थी। खुद उन्हें डेंगू होने पर इस रिपोर्ट में अभी साइन नहीं हो सके हैं।

डेंगू के मरीजों की संख्या बढ़ी, 57 नए मरीज

डेंगू मरीजों की संख्या कम होती नहीं दिख रही है। रविवार को भी एलाइजा जांच रिपोर्ट में 57 नए रोगियों में डेंगू की पुष्टि हुई है। इसके साथ ही सरकारी व निजी चिकित्सालयों में 78 मरीज भर्ती हैं। इसमें से 52 नए मरीज भर्ती हुए हैं। अब तक मरीजों की संख्या 2640 पहुंच गई है।

कप में जमा पानी में मिले लार्वा

स्वास्थ्य विभाग की टीम ने रविवार को भी जागरूकता अभियान चलाया। टीम लोहरियासाल तल्ला, लोहरियासाल मल्ला आदि क्षेत्रों में गई। सीएमओ डॉ. भारती राणा ने बताया कि एक घर में कप में पौधा उगाया था। जब टीम ने इसे देखा तो इसमें मच्छरों के लार्वा थे। उन्होंने कहा कि लोगों को अब भी जागरूक होने की जरूरत है। अपने घर के अंदर पानी जमा न होने दें। मच्छरों से बचाव के लिए उपाय करते रहें।

Posted By: Skand Shukla

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप