हल्द्वानी, जागरण संवाददाता : हल्‍द्वानी में इंदिरानगर नाला निर्माण को लेकर शासन स्तर पर कार्यवाही तेज होते जा रही है। शहरी विकास सचिव ने नाला निर्माण करने वाली संस्था सिंचाई विभाग से प्रस्ताव मांगा है। इससे पहले कमिश्नर के स्तर से प्रस्ताव शासन को भेजा गया था। इंदिरानगर नगर नाला इंदिरानगर से बरेली रोड की ओर गुजरता है। बरसात में उफान पर आने पर हर साल ये नाला इंदिरानगर से लेकर बरेली रोड के इलाकों में तबाही मचाता है। 

नाले के पानी के साथ ही गंदगी सड़कों और लोंगो के घरों में घुस जाती है। इस क्षेत्र के लोग और जनप्रतिनिधि सालों से नहर से होने वाली तबाही को रोकने की मांग कर चुके हैं। लालकुआं विधायक ने भी नाला निर्माण का मामला अफसरों के आगे उठाया। एक साल पहले कमिश्नर ने इस नाले की तबाही का संज्ञान लिया। उन्होंने नगर निगम, सिंचाई, लोक निर्माण विभाग और जल संस्थान के अफसरों के साथ संयुक्त बैठक कर नाले के डाइवर्जन पर मंथन किया। इसमें नाले को गोला में बनने वाले स्पेशल ट्रीटमेंट प्लांट पर ले जाकर छोड़ने का निर्णय लिया गया। नाला निर्माण की जिम्मेदारी सिंचाई विभाग को दी गई। 

सिंचाई विभाग से सभी विभागों से अपने अपने प्रस्ताव मांगकर संयुक्त प्रस्ताव बनाकर भेजने को कहा गया। सिंचाई विभाग ने 12.05 करोड़ रुपये का प्रस्ताव बनाकर कमिश्नर को भेजा, जिसे कमिश्नर ने शासन को भेज दिया था। वहीं कमिश्नर से नाला निर्माण का प्रस्ताव आने पर शासन में कार्यवाही शुरू हो गई है। सिंचाई विभाग के मुख्य अभियंता संजय शुक्ल ने बताया कि शहरी विकास सचिव ने उनसे इंदिरानगर नाले का प्रस्ताव मांगा है। जिसे शहरी विकास सचिव को भेजा जा रहा है। शासन से प्रस्ताव को स्वीकृति मिलते ही नाला निर्माण शुरू करा दिया जाएगा। इससे नाले से बरसात में होने वाली तबाही से लोंगो को निजात मिलेगी।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021