अभय पांडेय, काशीपुर। Gangster in US Nagar : पंजाब के खूंखार गैंगस्टर पूछताछ के दौरान मुंह खोलने से बचते रहे। हालांकि उन्होंने स्वीकारा कि पुलिस द्वारा बरामद असलहे से ही उन्होंने नरवाना पर हमला किया था।पूछताछ में पता चला कि पंजाब में नरवाना गैंग का वर्चस्व तोडऩे के लिए गैंग एक और हमले की तैयारी रच रहा था। कुडेश्वरी स्थित फार्म हाउस में ही इस गैंगवार की पटकथा रची जा रही थी।

पंजाब के खूंखार अपराधी संदीप सिंह भल्ला पुत्र अंग्रेज सिंह निवासी बठिंडा, फतेह सिंह उर्फ युवराज पुत्र बलविंंदर सिंह निवासी संगरूर और अमनदीप निवासी संगरूर को बीते दिनों एसटीएफ, कोतवाली पुलिस और पंजाब की क्राइम कंट्रोल यूनिट ने गिरफ्तार किया था। पुलिस ने मंगलवार को कोर्ट में पेश कर आरोपितों से हथियार आदि बरामद करने के लिए दो दिन की रिमांड स्वीकृत कराई। बुधवार सुबह चारों को दोबारा कोतवाली लाया गया। यहां कोतवाली, पंजाब पुलिस के क्राइम कंट्रोल यूनिट व एसटीएफ ने उनसे पूछताछ की।

एसटीएफ को बताया कि वे शरण लेने के मकसद से ही काशीपुर पहुंचे थे। जबकि पंजाब कंट्रोल यूनिट की कड़ी पूछताछ में सामने आया कि यहां से लौटकर उन्होंने पंजाब में कुलदीप गैंग के गुर्गों पर हमले का प्लान तैयार किया था। ए कैटेगिरी के गैंगस्टर रह चुके कुलबीर नरवाना पर हमले के बाद पंजाब में दोनों गैंगों के बीच गैंगवार की आशंका जताई जा रही थी।

संदीप बठिंडा व अन्य दो मानसा जिले के निवासी

कुलवीर नरवाना पर हमले की जिम्मेदारी लेने वाला गैंगस्टर संदीप सिंह उर्फ भल्ला सेखू भी इसमें शामिल है, जो बठिंडा की थर्मल कालोनी का निवासी है। वहीं गैंगस्टर फतेह सिंह नागरी घुमान उर्फ युवराज निवासी संगरूर और अमनदीप सिंह उर्फ अमना मानसा जिले का रहने वाला है।

अपराधियों के संरक्षकों पर एसटीएफ की नजर

बाहरी राज्यों से आए अपराधियों के कई संरक्षक जिले में चिह्नित किए गए हैं। एसटीएफ ऐसे लोगों पर एक्शन के मोड में आ गई है। एसटीएफ ने पूछताछ में ऐसे लोगों के नाम उगलवाने की भी कोशिश की। पिछले तीन से चार मामलों में चिह्नित ऐसे लोगों पर कार्रवाई की तैयारी शुरू कर दी गई है।

प्रोडक्शन वारंट लेने की तैयारी में पंजाब पुलिस

गैंगस्टर भल्ला सेखू और फतेह नागरी से पूछताछ करने के लिए बठिंडा पुलिस प्रोडक्शन वारंट पर लेने की तैयारी में है। इसके लिए संबंधित कागजात तैयार किए जा रहे हैं। सीजीएम के जरिये प्रोडेक्शन वारंट हल्द्वानी जेल दिया जाएगा।

यह थी पंजाब से फरार होने की वजह

22 जून 2020 को पंजाब में गैंगस्टर कुलबीर नरवाना पर कुछ लोगों ने ताबड़तोड़ गोली चला दी थी। हमले की जिम्मेदारी गैंगस्टर संदीप सिंह उर्फ भल्ला सेखू ने अपनी फेसबुक वाल पर ली थी। हालांकि बुलेट प्रूफ गाड़ी होने से कुलबीर बाल-बाल बच गया था। इसके बाद थाना कैनाल कालोनी पुलिस ने गैंगस्टर संदीप सिंह उर्फ सेखू भल्ला, फतेह नागरी के अलावा दो अज्ञात युवकों पर विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज किया था। तभी से फरार उक्त गैंगस्टर की खोज में पुलिस जुटी थी। सात जुलाई, 2020 को गैंगस्टर मनप्रीत ने कुलबीर की हत्या कर दी।