नैनीताल, [जेएनएन]: पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने राज्य सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि ट्रांसपोर्टर प्रकाश पांडे की हत्या के बाद भी प्रदेश सरकार नहीं चेती नतीजा एक और ट्रांसपोर्टर ने हत्या कर ली। तमाम आग्रहों और सुझावों के बावजूद सरकार नोटबंदी और जीएसटी से व्यापारियों व लघु उद्योगों पर पडऩे वाले दुष्प्रभावों का अध्ययन नहीं कर रही है। 

उन्होंने कहा कि हाईकमान चाहेगा तो वह नैनीताल से चुनाव लड़ने को तैयार हैं। कहा कि 2017 की हार को 2019 में जीत में बदलना है। नैनीताल के हल्द्वानी रोड स्थित होटल में मीडिया से मुखातिब रावत ने कहा कि भाजपा विधायकों की हलचल तमाम सवाल खड़े करती है।

कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल विधायक-मंत्रियों पर कटाक्ष करते हुए कहा कि इन बागियों द्वारा भाजपा के विधायकों को भी मल युद्ध की ट्रेनिंग दी जा रही है। उन्होंने जोर देकर कहा कि राज्य में राजनीतिक अस्थिरता किसी भी लिहाज से उचित नहीं है।

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए कांग्रेस के समर्थन करने के सवाल पर रावत ने गोलमोल जवाब दिया। कहा कि धर्म का काम जोडऩा होता है जबकि मंदिर का निर्माण सामाजिक संस्थाओं का काम है। सरकारों से उम्मीद की जाती है कि वह संविधान में ली गई शपथ के अनुसार आचरण करे। 

नैना देवी मंदिर में किया हवन-पूजन

पूर्व सीएम ने नैनीताल के नयना देवी व वैष्णो देवी मंदिर में हवन-पूजन कर देश-प्रदेश की खुशहाली की कामना करने के साथ ही अगले आम चुनाव में कांग्रेस के अच्छे दिनों के लिए मन्नत मांगी। रावत ने पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ पहले वैष्णो देवी मंदिर में और फिर नयना देवी मंदिर में पूजा अर्चना की।

यह भी पढ़ें: देवों के देव महादेव की चौखट पर जाकर हरीश खेलेंगे नया दांव

यह भी पढ़ें: केंद्र व राज्‍य सरकार पर बरसे पूर्व मुख्‍यमंत्री हरीश रावत

यह भी पढ़ें: बोले कोश्यारी, केंद्र में अगली सरकार भी भाजपा की

By Bhanu