जागरण संवाददाता, अल्मोड़ा : ब्रितानी दौर की अल्मोड़ा जिला बार एसोसिएशन का 14वां चुनाव करीब हैं। खास बात कि नई व्यवस्था व नियमावली के तहत सौ साल में पहली बार महिला अधिवक्ता भी एसोसिएशन की पदाधिकारी बनेगी। इस दफा महिला उपाध्यक्ष का पद सृजित किया गया है। इससे महिला अधिवक्ताओं में नया उत्साह है। 

सौ वर्ष के स्वर्णिम इतिहास में पूर्व पर्वतीय विकास मंत्री सोबन सिंह जीना उत्तर प्रदेश के दौर में दो बार निर्विरोध अध्यक्ष रहे। सबसे पहले 1920 से 1965 तक लक्ष्मी दत्त पांडे सबसे लंबी अवधि तक निर्विरोध चुने गए थे। अब तक आठ निर्वाचित बार अध्यक्ष एसोसिएशन की कमान संभाल चुके हैं। नामांकन पत्रों की खरीद के आखिरी दिन तक 23 अधिवक्ताओं ने नामनिर्देशन पत्र खरीदे। अध्यक्ष समेत 10 पदाधिकारी व पांच कार्यकारिणी सदस्यों के लिए 30 जुलाई को होने वाला चुनाव दिलचस्प होने के आसार हैं।

बढ़ेगा नारी का सम्‍‍‍‍‍मान 

अल्मोड़ा जिला बार एसोसिशन एक ऐतिहासिक बार है। इसका सदस्य बनना हर किसी अधिवक्ता के लिए गौरव की बात है। अल्मोड़ा बार पिथौरागढ़ व बागेश्वर की पैतृकबार रही है। महिला उपाध्यक्ष का पद सृजित होने से नारी शक्ति का सम्मान बढ़ेगा।

- रमेश नेगी, पूर्व अध्यक्ष जिला बार एसोसिएशन

पारदर्शी व निष्पक्ष बार चुनाव को प्रतिबद्ध हैं। इस बार एसोसिएशन में महिला उपाध्यक्ष का पद भी सृजित किया गया है। कोविड गाइडलाइन का पूरा ध्यान रखते हुए निर्वाचन प्रक्रिया पूरी करेंगे। चुनाव बैलेट पेपर से होगा।

- कृष्ण सिंह बिष्ट, सदस्य चुनाव संचालन समिति

अपने कार्यकाल में अधिवक्ताओं व जिला बार के हित में काम किए। 10 लाख रुपये का जीवन बीमा व पांच लाख के स्वास्थ्य बीमा की पुरजोर वकालत की। पांडेखोला में जिला बार के बहुद्देशीय भवन का निर्माण के प्रयास मैंने किए। कोरोनाकाल में जरूरतमंदों की मदद को एसोसिएशन सक्रिय रही।

- महेश परिहार, निवर्तमान अध्यक्ष जिला बार एसोसिएशन

सौ साल बाद एसोसिएशन में पहली बार महिला उपाध्यक्ष का पद सृजित हुआ है। इससे महिला अधिवक्ताओं में उत्साह है। उनमें नेतृत्व क्षमता का और बेहतर विकास होगा। जिला बार एसोसिएशन का यह यह निर्णय प्रशंसनीय है।

- पुष्पा भंडारी, सदस्य चुनाव समिति

Edited By: Prashant Mishra