चम्पावत, जेएनएन : उत्तराखंड में फुटबॉल का क्रेज और यहां के खिलाडिय़ों का टेलेंट शुभ संकेत है। पूर्वोत्तर राज्यों की तर्ज पर उत्तराखंड में भी फुटबॉल लीग होना जरूरी है। लीग का गठन होता है तो ऑल इंडिया फुटबॉल फेडरेशन उसकी हर संभव मदद करेगा। 2026 में होने वाले फुटबॉल विश्वकप के लिए भारतीय टीम को क्वालीफाई कराना फेडरेशन का पहला लक्ष्य है। यह बात चम्पावत पहुंचे ऑल इंडिया फुटबॉल एसोसिएशन के महासचिव कुशल दास ने कही है।

काली कुमाऊं फुटबॉल प्रतियोगिता के फाइनल मुकाबले में बतौर मुख्य अतिथि पहुंचे कुशल दास ने रविवार को स्थानीय होटल में पत्रकारों से वार्ता करते हुए कहा कि उत्तराखंड में फुटबॉल का काफी क्रेज है। यहां के खिलाडिय़ों में टेलेंट की कमी नहीं है।राज्य के दो खिलाड़ी संतोष ट्राफी में काफी अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। अगले दो साल में वे राष्ट्रीय फुटबॉल टीम का हिस्सा होंगे। देश में अच्छे फुटबॉल खिलाडिय़ों को तैयार करने के लिए बेहतर कोच तैयार किए जा रहे हैं।

फीफा की तर्ज पर 2022 में होने वाले महिला फुटबॉल विश्वकप के लिए भारत की टीम तैयार की जा रही है। खिलाडिय़ों को प्रशिक्षण देने के लिए स्वीडिस कोच थॉमस डेनरबी को दो साल के लिए नियुक्त कर लिया गया है। बताया कि फुटबॉल को किक्रेट के बराबर पॉपुलर करने में लंबा वक्त लगेगा, लेकिन अभी भारत में क्रिकेट के बाद फुटबॉल ही ऐसा खेल है जिसके प्रति लोगों में काफी आकर्षण है। 

यह भी पढें : इस गांव में देहरी पर स्वास्तिक का चिह्न बनाकर देते हैं शादी का न्यौता

यह भी पढ़ें : कैलास मानसरोवर यात्रा मार्ग पर खिसकी चट्टाने, रास्‍ते पर बोल्‍डर आने से ग्रामीण फंसे

Posted By: Skand Shukla

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप