नैनीताल, जेएनएन : मौसम विभाग का पूर्वानुमान सोमवार को सटीक साबित हुआ। तराई-भाबर के मैदानी इलाकों के साथ ही नैनीताल के पर्वतीय इलाकों में प्री-मानसून सीजन की सबसे अधिक बारिश हुई। हल्द्वानी में सोमवार सुबह से शाम साढ़े चार बजे तक 21.0 व मुक्तेश्वर में 10.8एमएम बारिश हुई। मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार मंगलवार सुबह तक बारिश जारी रहेगी। बारिश के कारण हल्द्वानी में अधिकतम तापमान में गिरावट दर्ज की गई। ऐसे में बारिश के कारण जहां लोगों को उमस से राहत मिली है वहीं किसानों के चेहरे भी खिल उठे हैं। सोमवार सुबह हल्द्वानी में न्यूनतम तापमान 24.4 डिग्री रिकॉर्ड किया गया, जबकि नैनीताल में अधिकतम 19.1 व न्यूनतम तापमान 18.0 डिग्री रहा।

मानसून की पहली बारिश से लोगों चेहरे जहां खिल उठे वहीं सड़कों पर वाहनों की भीड़ कम नजर आई। नैनीताल में पर्यटकों ने माल रोड पर भीगकर पहली बारिश का लुत्फ उठाया। बारिश को देखते हुए कुमाऊं मंडल विकास निगम के केव गार्डन में पर्यटकों की एंट्री रोक दी गई है। झील में नौकायन भी अघोषित रूप से बंद है। मौसम के पूर्वानुमान के अनुसार अगले दो दिन बारिश जारी रहेगी। बीती रात के बाद सुबह से झमाझम बारिश हो रही है। बारिश से झील का जलस्तर सुधर रहा है।

गली- मोहल्लों में जमा हुआ पानी

पूरे दिन बारिश हाेने के कारण जहा लोगों को गर्मी से राहत मिली वहीं सड़कों और गली-मोहल्लों में जलभराव होने के कारण लोगों को असुविधा हुई। इसको लेकर लोगों ने नगर निगम की व्यवस्थाओं को कोसा।

अगले दो दिनों तक हल्की बारिश जारी रहेगी

मौसम विभाग के अनुसार उत्तराखंड में मानसून ने दस्तक दे दी है, सोमवार को दिन भर हुई बारिश इसी मानसून का नतीजा है। प्रदेश में जहां भी मानसून नहीं पहुंचा है, वहां इसके एक-दो दिन में पहुंचने की संभावना है। जीबी पंत कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के मौसम वैज्ञानिक डॉ. आर के सिंह ने बताया कि सोमवार को 156.0 मिमी. बारिश रिकार्ड की गई है, तथा अगले दो दिनों तक हल्की-मध्यम बारिश जारी रहेगी। सोमवार को उत्तर-पश्चिम दिशा से 11.2 किमी./घंटे चली हवाओं से तापमान में भारी गिरावट (न्यूनतम 24.7 एवं अधिकतम 25.5 उिग्री सेल्सियस) दर्ज किया गया।यह बारिश खरीफ किसानों के लिए वरदान साबित होगी, क्योंकि बुवाई के इंतजार में खरीफ फसलों, बोई जा चुकी फसलों सहित आम व अन्य फलों के पकने के लिए भी यह बारिश फायदेमंद है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Skand Shukla