जागरण संवाददाता, रुद्रपुर/किच्छा: खनन पट्टे के रास्ते को लेकर हुए विवाद के बाद शांतिपुरी में पड़ोसी ने ही भाजपा मंडल महामंत्री की गोली मारकर हत्या कर दी। वारदात को अंजाम देने के बाद हत्यारोपित फरार हो गया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने जानकारी ली और शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। साथ ही हत्यारोपितों की धरपकड़ को पुलिस दबिश दे रही है।

शांतिपुरी नंबर तीन निवासी 35 वर्षीय संदीप सिंह कार्की पुत्र जगत सिंह कार्की पंतनगर-शांतिपुरी के भाजपा मंडल महामंत्री थे। संदीप ने एक मकान रुद्रपुर के प्रीत विहार में भी बनाया है। संदीप के नाम पर खनन का पट्टा भी है। जिसमें जाने के लिए संदीप के खेतों से रास्ता है।

बताया जा रहा है कि शनिवार सुबह संदीप पत्नी को लेकर रुद्रपुर से शांतिपुरी पहुंचा। जहां पर पड़ोस में रहने वाले ललित मेहता ने खनन पट्टे पर जाने वाले मार्ग को रोक दिया था। इसका पता चलते ही संदीप वहां पहुंच गया और रास्ता खोलने लगा। यह देख ललित मेहता अपने भाई और पिता के साथ वहां पहुंच गया। इस दौरान दोनों के बीच विवाद हो गया था।

इस पर ललित मेहता ने संदीप के सीने पर असलहा सटाकर फायर कर दिया। जिससे संदीप लहुलूहान हो गया। फायरिंग की आवाज सुनकर आसपास के लोगों के साथ ही स्वजन भी पहुंच गए। आनन फानन में घायलावस्था में उसे किच्छा के सरकारी अस्पताल ले गए। जहां गंभीर हालत देख उसे रुद्रपुर के निजी अस्पताल के लिए रेफर कर दिया गया। 

रुद्रपुर निजी अस्पताल में डाक्टर ने संदीप को मृत घोषित कर दिया। संदीप की मौत की खबर लगते ही स्वजनों में कोहराम मच गया। सूचना पर सीओ आशीष भारद्वाज, कोतवाल विक्रम राठौर, रम्पुरा चौकी प्रभारी अनिल जोशी, पंतनगर के एसआइ अरविंद चौधरी पुलिस कर्मियों के साथ मौके पर पहुंचे और घटना की जानकारी ली। साथ ही शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। 

एसएसपी मंजूनाथ टीसी ने बताया कि हत्यारोपित की तलाश की जा रही है। इसके लिए पुलिस टीम दबिश दे रही है। बताया कि जल्द ही हत्यारोपित को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

पत्नी और बच्चों का रो-रोकर बुरा हाल

संदीप कार्की की मौत के बाद उसकी पत्नी प्रीति और पुत्र दक्ष तथा पुत्री अनुष्का का रो-रोकर बुरा हाल है। वह पांच भाइयों जमन सिंह, किशन सिंह, बाली सिंह, अर्जुन सिंह में सबसे छोटा था। दो बहनों का भी विवाह पूर्व में हो चुका है।

Edited By: Prashant Mishra