जागरण संवाददाता, हल्द्वानी : बरेली रोड स्थित तल्ली हल्द्वानी की नागपाल ट्रेडर्स के सामने की गली में रहने वाले सेवानिवृत्त मेजर जनरल प्रकाश चंद्र सिंह खाती के बंद घर में शनिवार की दोपहर आग लग गई। मकान के गोदाम में लगी आग से 30 से अधिक बक्सों में रखे कपड़े, बिस्तर, कापी-किताबें, खाद्यान्न जल गया। मंडी चौकी पुलिस व दमकल कर्मियों ने तीन वाहनों से करीब दो घंटे में आग पर काबू पाया।

तल्ली हल्द्वानी की सुयाल कॉलोनी में सेवानिवृत्त मेजर जनरल प्रकाश चंद्र सिंह खाती और उनके भाई रिटायर्ड शिक्षक देवेंद्र पाल खाती का संयुक्त मकान है। ऊपरी हिस्से में देवेंद्र पाल खाती और नीचे के हिस्से में प्रकाश चंद्र सिंह खाती रहते हैं। इन दिनों मेजर जनरल मचखाली, रानीखेत स्थित गांव गए हैं, जबकि देवेंद्र पाल सिंह इलाज के लिए दिल्ली में हैं। शनिवार दोपहर ही देवेंद्र का अजमेर में रहने वाला शिक्षक बेटे संजय खाती हल्द्वानी पहुंचा था। संजय ने बताया कि उन्हें घर आए 10 से 15 मिनट ही बीते थे कि करीब 2:25 बजे अचानक उन्हें कुछ जलने की गंध आने लगी। वह बाहर आए तो नीचे गोदाम से धुआं निकल रहा था। उन्होंने तुरंत इसकी सूचना दमकल व पुलिस को दी। गोदाम में रखे 30 से अधिक बक्सों में कपड़े, बिस्तर, काफी-किताब आदि को आग पकड़ चुकी थी। इससे परिसर में रहने वाले किरायेदारों में भी अफरा-तफरी मच गई। किरायेदार बाल्टियों में पानी लाकर आग बुझाने के प्रयास करने लगे। हालांकि, आग तब तक काफी बढ़ चुकी थी। आग गैलरी तक पहुंची तो वहां ड्रम में रखा अनाज भी जल गया। ऊपरी हिस्से तक आग के पहुंचने से पहले ही दमकल व पुलिस पहुंच गई। तीन दमकल वाहनों दो घंटे में आग बुझाई जा सकी। दमकल अफसरों के मुताबिक प्रथम दृष्टया शॉर्ट सर्किट से आग लगने की आशंका जताई है।

=========

दशकों के संजोए दस्तावेज भी जल गए

गोदाम में रखे कई बक्सों में मेजर जनरल के कई दशक पहले के दस्तावेज, किताबें, साज-सज्जा का सामान आदि भी रखा था। अग्निकांड में सारा सामान जलकर राख हो गया।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021