जासं, नैनीताल : कोश्यां-कुटौली तहसील अंतर्गत समीपवर्ती ब्यासी ग्राम पंचायत में सर्पदंश से बालिका की मौत हो गई थी। अब वन विभाग ने बच्ची के परिजनों को तीन लाख की सहायता राशि प्रदान कर दी है।

दरअसल दो अगस्त को धनियांकोट क्षेत्र के ग्राम पंचातय ब्यासी के नौणा गांव में हेम चंद्र की पांच साल की बेटी प्रियंका को सोते समय सांप ने डंस दिया था। परिजन उसे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र खैरना ले गए, जहां पहुंचने से पहले ही उसने दम तोड़ दिया था। बुधवार को वन क्षेत्राधिकारी तनुजा परिहार ने ग्राम प्रधान मंजू भट्ट की मौजूदगी में बच्ची की माता मीना देवी को तीन लाख की सहायता राशि का चेक प्रदान किया। इस अवसर पर वन विभाग के कर्मचारी व ग्रामीण मौजूद थे। ग्रामीणों ने इस मामले में फटाफट कार्रवाई करने के लिए रैंजर तनुजा समेत विभाग का आभार प्रकट किया है।

उधर नगर पालिका भवाली द्वारा हरसौली में समर हाऊस में बनाई दुकान में बांज के वृक्ष को चार दीवारी में कैद कर दिया गया था। स्थानीय गणेश गयाल की शिकायत पर वन विभाग ने पालिका के ठेकेदार मुकेश गुरुरानी का 25 हजार का चालान काट वृक्ष को अतिक्रमण से मुक्त करा दिया। वन रैंजर मुकुल शर्मा ने बताया कि ठेकेदार को भविष्य में वन संपदा को नुकसान न पहुंचाने की सख्त हिदायत दी गई है। उन्होंने कहा कि वन संपदा राष्ट्रीय संपदा है। ऐसे में उसे नुकसान पहुंचाने वालों के खिलाफ वन संरक्षण अधिनियम के तहत सख्त कार्रवाई अमल में जाएगी। ऐसे में किसी को भी नहीं बख्शा जाएगा।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस