भीमताल, जेएनएन : धारी में सोमवार की शाम ओलावृष्टि से चौपट हुए फसल को देख कास्तकार को हार्ट अटैक पड़ने से मौत हो गई। इस घटना से परिजनों में कोहराम मचा है। हालांकि प्रशासन ने ऐसी किसी घटना की जानकारी होने से इन्कार किया है।

धारी ब्‍लॉक के अक्सोड़ा गांव के तोक घौतिया निवासी मोहन राम (48) पुत्र धर्मराम सोमवार शाम अपने घर पर थे। इसी बीच अचानक मौसम खराब हुआ और जमकर ओलावृष्टि होने लगी। इससे फसल को काफी नुकसान पहुंचा। अक्सोड़ा के पूर्व ग्राम प्रधान मोहन सिंह क्वीरा ने बताया कि मोहन राम कम जोत के किसान थे। मौसम खराब होते ही वह खेत पर चल दिए। ओलावृष्टि से खेतों में बोए गए आलू व अन्य फसलों की बर्बादी देख वह बेहद चिंतित हो गए और बेटों से बोले, 'हे राम! आब सालभर के खूंल (अब साल भर क्या खाएंगे)'। इसके कुछ देर बाद ही उन्हें दिल का दौरा पड़ा, जिससे कुछ ही देर में उसकी मौत हो गई। पूर्व ग्राम प्रधान मोहन सिंह क्वीरा ने बताया कि मोहन राम के तीन बेटे हैं और तीनों मजदूरी करते हैं। किसान की मौत से परिजनों में कोहराम मचा है।

एसडीएम ने कहा मुझे कोई जानकारी नहीं

विवेक राय, एसडीएम का इस मामले में कहना है कि मामले की मुझे कोई जानकारी नहीं है। परिजनों की ओर से भी इसकी कोई सूचना नहीं दी गई।

यह भी पढ़ें : गले में फंदा डालकर सेल्‍फी खींची और प्रेमिका को वाट्सएप करने के बाद कर ली खुदकुशी

यह भी पढ़ें : लोकसभा प्रत्याशी रमेश पोखरियाल निशंक के नामांकन को फिर मिली हाईकोर्ट में चुनौती

Posted By: Skand Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस