Move to Jagran APP

जानिए क्यों बैलेट पेपेर पर मतदान कराने के लिए वितरित कराए जा रहे हैं फार्म

दिव्यांग और 80 प्लस आयु के ऐसे मतदाता जो मतदान केंद्रों तक जाने में असमर्थ हैं वह घर बैठे ही अपनी मतों का इस्तेमाल कर सकेंगे। इसके लिए प्रशासन ने बीएलओ के माध्यम से विधानसभा क्षेत्र में ऐसे मतदाताओं को चिन्हित कर कुल चार हजार फॉर्म वितरित करवाए हैं।

By Skand ShuklaEdited By: Sun, 16 Jan 2022 10:24 AM (IST)
उत्तराखण्ड चुनाव 2022 : जानिए क्यों बैलेट पेपेर पर मतदान कराने के लिए वितरित कराए जा रहे हैं फार्म

जागरण संवाददाता, सितारगंज : दिव्यांग और 80 प्लस आयु के ऐसे मतदाता जो मतदान केंद्रों तक जाने में असमर्थ हैं वह घर बैठे ही अपनी मतों का इस्तेमाल कर सकेंगे। इसके लिए प्रशासन ने बीएलओ के माध्यम से विधानसभा क्षेत्र में ऐसे मतदाताओं को चिन्हित कर कुल चार हजार फॉर्म वितरित करवाए हैं। जिसमें मतदाताओं की ओर से असमर्थता जारी करने पर बीएलओ की देखरेख में पोस्टल बैलेट के जरिए मतदाताओं के घर पहुंच कर उनके मत लिए जाएंगे। वहीं दूसरी ओर नगर के मुख्य चौराहों पर प्रशासन ने मतदान के प्रति जागरूक करने के लिए बैनर भी लगाए।

एसडीएम तुषार सैनी ने बताया कि प्रत्येक मतदान केंद्रों में आमजन के साथ ही दिव्यांग व बुजुर्गों के लिए भी उचित व्यवस्था की जा रही है। जिससे कि मतदान करने में उन्हें किसी भी प्रकार की दिक्कतों का सामना न करना पड़े। दिव्यांग व 80 प्लस के ऐसे मतदाता जो मतदान केंद्रों के लंबी कतारों में खड़े होने व मतदान केंद्र तक आने में असमर्थ हैं, उनके लिए चुनाव आयोग की ओर से दिए गए पोस्टल बैलट सुविधा का इस्तेमाल किया जाएगा।

बताया कि इस सुविधा के तहत क्षेत्र के दिव्यांग व 80 प्लस मतदाताओं की सूची तैयार कर बीएलओ के माध्यम से उनके पास 12 डी का फॉर्म भेजा जाएगा। इस फार्म में मतदाता की ओर से केंद्र तक आने में असमर्थता जाहिर करने पर एक टीम मतदाता के घर पर पहुंचकर पोस्टल बैलट के जरिए उनका मत लेगी। तहसीलदार शुभांगिनी ने बताया कि लोगों को मतदान की महत्व से परिचय करवाते हुए प्रत्येक मत का इस्तेमाल हो सके इस पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। इसको लेकर नगर के मुख्य जगह पर मतदान के प्रति जागरूक करने वाले बैनर भी लगवाए जा रहे हैं। जिससे कि लोग मतदान के प्रति जागरूक होकर अधिक से अधिक अपने मतों का इस्तेमाल कर सके।