जागरण संवाददाता, रुद्रपुर: theft in parshad house 66 तोला सोने के जेवरात बरामदगी के बाद अब पुलिस इसकी सूची ईडी, आयकर और जीएसटी को भी देगी। ताकि पता लगाया जा सके कि लाखों के जेवरात कहां से आए। पुलिस ने शनिवार को पार्षद के यहां चोरी का पर्दाफाश किया।

चोरी पार्षद के किराएदार समेत दो अन्य परिचितों ने की थी। इस मामले में पुलिस ने किराएदार समेत तीनों को गिरफ्तार कर लिया है। उनके पास से चोरी के 66 तोला सोने के जेवरात, एक किलो चांदी के जेवरात और करीब डेढ़ लाख की नकदी बरामद की है। 

फंस सकते हैं पार्षद

गदरपुर में पार्षद पति बृजेश सिंह के घर 66 तोला सोने के जेवरात, एक किलोग्राम चांदी के जेवरात और डेढ़ लाख की चोरी हो गई थी। चोरी की सूचना पर जब पुलिस मौके पर पहुंची तो लाखों के सोने के जेवरात चोरी का मामला पहले संदिग्ध लगा। क्योंकि चोरी हुई थी तो पुलिस जांच में जुट गई।

कुछ घंटों बाद पुलिस ने चोरों को भी गिरफ्तार कर उनके पास से चोरी के 36 लाख से अधिक के जेवरात के साथ ही डेढ़ लाख की नकदी बरामद कर ली।

यह उठ रहे सवाल

पार्षद पति के घर लाखों के जेवरात कहां से आए, इसके लिए बिल मांगे गए थे। पुलिस सूत्रों के मुताबिक अधिकांश जेवरात के बिल ही नहीं थे।

इसे गंभीरता से लेते हुए पुलिस ने जेवरात की सूची बना रही है। एसएसपी मंजूनाथ टीसी ने बताया कि बरामद जेवरात की सूची तैयार कर जीएसटी, आयकर और ईडी को भेजी जाएगी।

किराएदार ही निकला मास्टर माइंड

एसएसपी मंजूनाथ टीसी ने बताया कि पार्षद के घर में मुस्तकीम पुत्र असगर किराए में रहता है। पास में ही उसकी मोबाइल की दुकान भी है। जबकि जाहिद और शुभम भी पार्षद पति बृजेश के परिचित है। रक्षा बंधन में पत्नी समेत अन्य स्वजनों के साथ ससुराल जाने से पहले उसने तीनों से इसका जिक्र भी किया था।

बताया जा रहा है कि किराएदार मुस्तकीम को पता था कि बृजेश के घर में खूब सोने के जेवरात है। इस पर उसने जाहिद और शुभम के साथ चोरी की योजना बनाई और लाखों के जेवरात चुरा लिए।

यह भी पढ़ें: गदरपुर में किराएदार ने ही की थी पार्षद के घर चोरी, पुलिस ने तीन को किया गिरफ्तार

Edited By: Prashant Mishra