जागरण संवाददाता, रुद्रपुर : दशमोत्तर छात्रवृत्ति घोटाले में एसआइटी की 10 टीम यूएस नगर के 50 से अधिक शैक्षिक संस्थानों में अध्ययनरत रहे 45 हजार से अधिक लाभार्थियों से पूछताछ कर चुकी है। जबकि 153 कालेजों के 80 हजार छात्रों से पूछताछ होना बाकी है। फिलहाल विधानसभा चुनाव में एसआइटी में तैनात अधिकांश पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों की डयूटी के चलते एसआइटी जांच धीमी हो गई है।

वर्ष, 2011-12 में दशमोत्तर छात्रवृत्ति में मिली अनियमितता के बाद एसआइटी ने जांच शुरू कर दी थी। पहले चरण में हुई जांच में एसआइटी ने बाहरी राज्यों के 303 कालेज और उनमें अध्ययनरत 3034 लाभार्थियों से पूछताछ की। साक्ष्य के आधार पर एसआइटी ने 60 केस दर्ज कर दो दर्जन से अधिक आरोपितों को गिरफ्तार किया था। दूसरे चरण में एसआइटी को यूएस नगर के 203 कालेजों और उनमें छात्रवृत्ति लेकर अध्ययन करने वाले एससी, एसटी और ओबीसी के 1.25 लाख छात्रों से पूछताछ करनी थी।

अब तक एसआइटी की 10 टीम जिले के 50 कालेजों के साथ ही 45 हजार से अधिक छात्रों की जांच कर चुकी है। जिसमें एसआइटी को कोई अनियमितता नहीं मिली है। जबकि 153 कालेज और उनमें अध्ययन कर चुके 80 हजार से अधिक छात्रों से एसआइटी को भौतिक सत्यापन के बाद जांच करनी है। लेकिन इस बीच विधानसभा चुनाव आ गए। जिसके चलते जिले में कानून और शांति व्यवस्था बनाने के लिए चुनाव डयूटी में एसआइटी में तैनात पुलिस अधिकारी और कर्मचारियाें की भी डयूटी लग गई है। इससे एसआइटी की जांच रूक सी गई है। एसआइटी अधिकारियों के मुताबिक चुनाव डयूटी के चलते जांच धीमी हुई है। चुनाव के बाद जांच में तेजी आएगी।

Edited By: Prashant Mishra