जागरण संवाददाता, हल्द्वानी : अप्रैल में लागू हुए नियम की वजह से गौला खनन से जुड़े वाहनस्वामियों को अब झटका लग रहा है। 15 साल पुराने वाहनों की फिटनेस में पिछले साल तक करीब 1900 रुपये का खर्चा आता था। अब यह दर 15 हजार हो गई है।

गाड़ी के 15 साल से और ज्यादा पुरानी होने पर अतिरिक्त चार्ज देना पड़ेगा। गौला नदी में साढ़े सात हजार पंजीकृत है। जिसमें से करीब छह हजार की उम्र 15 साल पूरी हो चुकी है। अगले महीने खनन शुरू होने की वजह से रोजाना बड़ी संख्या में वाहन िफटनेस को पहुंच रहे हैं।

पुराने वाहनों से प्रदूषण की मात्रा काफी बढ़ती है। ऐसे में केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने अप्रैल 2022 से 15 साल पुराने वाहनों के रजिस्ट्रेशन नवीनीकरण व फिटनेस आदि के शुल्क में काफी बढ़ोतरी कर दी। ताकि लोग पुरानी गाडिय़ों को स्क्रैप कर नए माडल के वाहन खरीदे। इससे वायु प्रदूषण में गिरावट भी आती।

वहीं, नैनीताल जिले में 15 साल से ज्यादा पुराने कमर्शियल वाहनों की संख्या सबसे ज्यादा गौला नदी में है। गौला संघर्ष समिति अध्यक्ष पम्मी सैफी ने बताया कि पिछले साल तक 15 साल पुरानी गाड़ी की फिटनेस में 1900 रुपये लगते थे। अब 15 हजार शुल्क पड़ रहा है। वहीं, एआरटीओ विमल पांडे ने बताया कि कई लोग सालों पुराने वाहनों को स्क्रैप कर माडल को अपडेट भी कर रहे हैं।

Edited By: Skand Shukla