हल्द्वानी, [जेएनएन]: सोशल मीडिया के बढ़ते प्रयोग को भुनाने के लिए प्रदेश सरकार ने नई पहल की है। लोग अब सार्वजनिक हित की समस्याओं और शिकायतों को सोशल मीडिया यानी फेसबुक, ट्वीटर, इंस्टाग्राम के जरिए डीएम, एसएसपी और एसपी तक पहुंचा सकेंगे। इस पर सरकार निगरानी रखेगी।

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत सोशल मीडिया पर खूब सक्रिय रहते हैं। इसके चलते कई बार लोग अपनी समस्याओं को सीएम के ट्वीटर एकाउंट पर टैग कर देते हैं। जिन पर कुछ काम न होता देख लोग सोशल मीडिया पर नाराजगी जताते भी देखे गए हैं। इसे देखते हुए सरकार ने नई पहल की है। 

सचिव उत्तराखंड सरकार राधिका झा की ओर से जिलाधिकारी, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक और पुलिस अधीक्षक को जारी दिशा-निर्देश में कहा गया है कि सीएम द्वारा शासकीय योजनाओं एवं अन्य कार्यों से संबंधित ट्वीट किए जाते हैं। जिस पर लोगों द्वारा जनहित के मुद्दे, जनसामान्य से जुड़ी तात्कालिक समस्या, समाधान व सुझाव आदि कमेंट्स किए जाते हैं। 

ऐसे में डीएम, एसएसपी, एसपी संबंधित विभागों को तत्काल आवश्यक कार्यवाही के लिए निर्देशित करें। साथ ही संबंधित कमेंट्स करने वाले व्यक्ति को भी सूचित करने को कहा गया है। वहीं, जो विषय शासन और प्रदेश स्तर के होंगे, उनको संबंधित विभागों के प्रशासकीय प्रमुखों को कार्यवाही के लिए शासन को संदर्भित कराना होगा। सीएम रावत ने ट्वीट करते हुए लिखा है, सभी जिम्मेदारी के साथ सुविधा का सदुपयोग करें।

प्रत्येक माह रिपोर्ट देंगे जिलाधिकारी

दिशा-निर्देश में कहा गया है कि सोशल मीडिया के जरिए सीएम के सामने रखी जाने वाली समस्याओं और शिकायतों की प्रत्येक माह समीक्षा होगी। जिलाधिकारी को फेसबुक, ट्वीटर, इंस्टाग्राम में आने वाली शिकायत, सुझाव आदि पर की गई कार्यवाही से सीएम कार्यालय को अवगत कराना होगा।

यह भी पढ़ें: कैबिनेट का फैसलाः केदारनाथ और औली में तेजी से होंगे निर्माण कार्य 

यह भी पढ़ें: व्हॉट्सएप ने बदली एक पिता की जिंदगी, खोया बेटा वापस मिला

Posted By: Sunil Negi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस