जागरण संवाददाता, द्वाराहाट (अल्मोड़ा) : डीएम वंदना सिंह ने बिपिन त्रिपाठी कुमाऊं प्रौद्योगिकी संस्थान (बीटीकेआइटी) का निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। बतौर निदेशक उन्होंने छात्रावासों के रखरखाव पर खास जोर दिया। साथ ही आंतरिक सड़कों की खराब स्थिति पर सुधार के लिए दिशा निर्देश दिए। बाद में डीएम ने योगदा आश्रम के साधना स्थल में हुए समारोह के दौरान 25 होनहार छात्राओं को टेबलेट भी बांटे। 

जिलाधिकारी वंदना सिंह ने गुरुवार को इंजीनियरिंग कालेज के निरीक्षण किया। छात्र छात्राओं के अतिरिक्त अधिकारियों व कर्मचारियों से रूबरू हो उनकी परेशानियां सुनीं और निराकरण का भरोसा दिलाया। इस दौरान विभिन्न छात्रावसों का निरीक्षण कर वस्तुस्थिति से अवगत हो साफ सफाई पर ध्यान देने को कहा। भवनों के रखरखाव के साथ ही संस्थान की खस्ताहाल आंतरिक सड़कों के सुधारीकरण की समुचित व्यवस्था के लिए अधिकारियों से पूरा ब्यौरा देने को कहा।

मौके ओर कुलसचिव डा. अजीत कुमार सिंह सहित अन्य प्राध्यापक मौजूद रहे। इसके बाद योगदा आश्रम की साधना स्थली जाकर छात्राओं से संवाद स्थापित कर उनकी जिज्ञासा शांत की। साथ ही कठोर परिश्रम से कभी हार न मानने का जज्बा पैदा कर आगे बढऩे का हौसला प्रदान किया। जीजीआईसी तथा आदर्श इंटर कालेज की 25 निर्धन व मेधावी छात्राओं को टेबलेट वितरित किए। इससे पूर्व आश्रम प्रभारी ललितानंद गिरि ने उनका स्वागत कर योगदा के गुरुजनों के बारे में जानकारी दी।

राज्य आंदोलनकारियों की समस्याएं रखीं 

बीटीकेआइटी में पूर्व विधायक पुष्पेश त्रिपाठी ने डीएम वंदना से मुलाकात की। उन्होंने संस्थान में कार्यरत मेस व सुरक्षा कर्मियों की समस्याओं का तत्काल समाधान करने के अतिरिक्त राज्य आंदोलनकरियों की समस्याओं का समाधान करने की आवाज उठाई। साथ ही लंबे समस्य से तड़ागताल क्षेत्र की दूरसंचार की बदहाल संचार व्यवस्था को दूर करने का आग्रह किया।

Edited By: Prashant Mishra