बागेश्वर, जेएनएन : आसमान में फिर बादल छाने से बारिश और बर्फबारी के आसार बने हुए हैं। इससे ठिठुरन भी बढ़ गई है। लोग मकर संक्रांति पर्व पर भी घरों से बाहर निकलने में कतराए और अवकाश होने से घरों में डटे रहे। वहीं, मौसम विभाग ने फिर बारिश और बर्फबारी का अलर्ट जारी किया है।

दोपहर बाद धूप खिलने से लोगों ने ली राहत

बुधवार को सुबह घना कोहरा छाया रहा और आसमान में बादल छाए रहे, जिससे अपराह्न तक मौसम बनता और बिगड़ता रहा। दोपहर बाद धूप खिलने से लोगों ने राहत की सांस ली। मकर संक्रांति पर्व का अवकाश होने पर लोग घरों में डटे रहे और ठंड से बचने के लिए अलाव आदि जलाए। वहीं, बर्फबारी वाले गांवों की दिनचर्या अभी भी पटरी से उतरी हुई है।

दुश्‍वारियां झेल रहे हैं पिंडर घाटी के लोग

पिंडर घाटी के लोग रास्ते, बिजली, संचार और सड़क व्यवस्था से महरूम हैं। खाती, समडर, जांतोली, कुंवारी, झूनी, खल्झूनी, बदियाकोट, हाम्टी, कापड़ी, बाछम, कर्मी के अलावा शामा क्षेत्र के सुदूरवर्ती गांवों में अभी भी बर्फबारी के आसार बने हुए हैं, जिससे लोगों की दुश्वारियां बढ़ गई हैं। वहीं मौसम विभाग देहरादून के अनुसार दो दिन मौसम साफ रहने के बाद 16 जनवरी से फिर बारिश और बर्फबारी की संभावना है।

16 और 17 जनवरी को प्रदेश में बारिश की संभावना

जिला आपदा अधिकारी शिखा सुयाल ने बताया कि मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार 16 और 17 जनवरी को प्रदेश भर में बारिश और बर्फबारी की संभावना है। 16 जनवरी को भारी भारिश होगी, वहीं 2500 मीटर से अधिक ऊंचाई वाले क्षेत्रों में भारी बर्फबारी भी होने की संभावना है। 17 जनवरी को बारिश कुछ हल्की होगी, लेकिन बर्फबारी निचले इलाकों तक भी होने की संभावना है। कहा कि इस दौरान 2000 मीटर की ऊंचाई वाले क्षेत्रों में भी बर्फबारी हो सकती है। 18 जनवरी की दोपहर तक मौसम साफ होने लगेगा। इसके बाद कुछ दिन तक मौसम साफ रहने से धूप खिली रहेगी।

यह भी पढ़ें : सौ साल पहले कुली बेगार प्रथा के विरोध में उत्‍तराखंड में हुई थी रक्तहीन क्रांति, जानिए

यह भी पढ़ें : टेंट में अंगीठी जलाकर साेए दंपती की दम घुटने से मौत, कहीं आप तो नहीं कर रहे हैं ये काम

Posted By: Skand Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस