नैनीताल,जेएनएन : सरोवर नगरी में पहली बार विभिन्न स्कूलों की 1100 स्कूली छात्राओं ने झील में नौका रैली कर बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ का संदेश दिया। इस सराहनीय पहल के लिए डीएम सविन बंसल को धन्यवाद भी कहा। सोमवार का दिन शहर समेत आसपास के विद्यालयों की बेटियों के लिए यादगार बन गया। विभिन्न स्कूलों की छात्राएं हाथों में बेटियों को शिक्षित व आत्मनिर्भर बनाने के संदेश की तख्तियां हाथ में पकड़कर फ्लैट्स मैदान पहुंची। उनका खुद डीएम व डीपीओ, सीडीपीओ ने स्वागत किया। उसके बाद डीएम ने नयना देवी बोट स्टैंड पर नौका रैली का शुभारंभ किया। महत्वपूर्ण संदेश के साथ पहली बार स्लोगन व गुब्बारों से सजी 213 नौकाएं झील पर उतरी तो नजारा शानदार बन गया। एनसीसी नेवल यूनिट की बालिकाओं ने पतवार थामकर खुद नाव चलाई।

रैली के बाद बोट हाउस क्लब में कार्यक्रम के दौरान डीएम ने कहा कि  बेटियां अपनी मेहनत के बलबूते माता-पिता व देश एवं प्रदेश का नाम रोशन कर रही है। समाज में बेटियों के प्रति सोच में सकारात्मक बदलाव आया है। डीएम ने बेहतर समाज के लिए नैतिक मूल्यों के अनुपालन पर जोर दिया। बालिकाओं को तुलिका जोशी ने पोषण डीपीओ, अनुलेखा बिष्ट ने बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ, जिला प्रोबेशन अधिकारी व्योमा जैन ने महिला कल्याण योजना व महिला हेल्पलाइन की जानकारी दी। सीडीओ विनीत कुमार, डीडीओ रमा गोस्वामी, डिप्टी बीईओ अधिकारी सुलोचना ने विचार रखे। रैली में जीजीआइसी, एशडेल, एमएल साह बालिका विद्यालय, शहीद सैनिक स्कूल, कन्या जूनियर हाई स्कूल, बिशप शॉ, डीएसबी नेवल विंग की करीब 1100 बालिकाएं शामिल थी। संचालन एआरटीओ विमल पांडे, मीता उपाध्याय ने किया।

इसमें एसएसपी सुनील कुमार मीणा, एएसपी राजीव मोहन, कमांडेंट एनसीसी डीके सिंह, एसडीएम विनोद कुमार, सीईओ कमलेश कुमार गुप्ता, डीईओ एचएल गौतम, कुमाऊं विवि कुलसचिव डॉ. महेश कुमार, डीएसओ मनोज वर्मन, जिला पर्यटन अधिकारी अरविंद गौड़, समाज कल्याण अधिकारी अमन अनिरुद्ध, जीजीआइसी प्रधानाचार्य सावित्री दुग्ताल, कमला कोरंगा आदि थे।

यह भी पढ़ें : फॉरेस्ट गार्ड परीक्षा की ओएमआर सीट वायरल, पर्चा लीक होने की अफवाह

यह भी पढ़ें : कमाल का है कमल, पहले कैंसर से जूझा, अब रणजी क्रिकेट का स्‍टार बनकर उभरा

Posted By: Skand Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस