हल्द्वानी, जेएनएन : सूर्य तुला राशि छोड़कर वृश्चिक में प्रवेश कर गया है। वृश्चिक को मंगल के स्वामित्व वाली राशि माना गया है। सूर्य और मंगल आपस में मित्रता का भाव रखते हैं। इस कारण सूर्य का मंगल की राशि में आना और तुला को छोडऩा शुभ है।

च्योतिषाचार्य डॉ. नवीन चंद्र जोशी के अनुसार अब राजनीति से जुड़े लोग संयमित भाषा का प्रयोग करेंगे। दुर्घटनाओं व प्राकृतिक आपदाओं से बचाव होगा। धर्म का प्रचार बढ़ेगा। जनता को महंगाई से कुछ राहत मिलने की उम्मीद है। व्यापार में वृद्धि होगी। सोने-चांदी के भाव में तेजी आएगी। शेयर के भाव भी तेजी रहेगी। सूर्य के वृश्चिक राशि में प्रवेश के साथ ही 19 नवंबर से विवाह के शुभ मुहूर्त शुरू हो जाएंगे। देवोत्थान एकादशी के बाद भी यह कार्य नहीं हो पा रहे थे।

राशियों पर दिखेगा अलग-अलग प्रभाव

मेष : किसी बड़े कार्य में सफलता मिलेगी। खर्चों के मामलों में हाथ तंग रह सकता है। व्यापार में सफलता प्राप्त करेंगे।

वृषभ : विशेष कार्यों में सफल होंगे। कार्य का विस्तार होगा और सरकारी अधिकारियों से मदद मिलेगी।

मिथुन : छठा सूर्य सफलता के साथ चिंताजनक समाचार लेकर आएगा। परिवार में श्रेष्ठता बढ़ाएगा, जिम्मेदारी बढ़ेगी।

कर्क : लंबे समय से अटके हुए कार्य बनेंगे। निकट संबंधियों से लाभ होगा। व्यापार में वृद्धि के योग हैं।

सिंह : प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। कई दिनों से जो आर्थिक परेशानी थी, उससे पार पाने में सफल होंगे।

कन्या : वाहन सुख की प्राप्ति हो सकती है। परिवार में मान बढ़ेगा और समृद्धि का विस्तार होगा।

तुला : अड़चनें दूर होंगी। दूसरों पर निर्भरता समाप्त होगी। रुके कार्य सिद्ध होंगे। व्यवहार संयमित रखें।

वृश्चिक : समय मंगलकारी है। कई प्रकार की सफलताएं एवं धन की प्राप्ति होगी। कार्य का विस्तार होगा।

धनु : आर्थिक लिहाज से समय बेहतर है। वाहन आदि का प्रयोग सावधानी से करें। खुद को संयमित रखें।

मकर : आत्मविश्वास में वृद्धि होगी। कार्य समय पर होंगे। आध्यात्मिक सफलता मिलेगी, परिवार में खुशियां रहेंगी।

कुंभ : दोस्तों के बीच वैचारिक मतभेद हो सकता है। संयम रखने से लाभ होगा। कार्य को प्राथमिकता बेहतर होगा।

मीन : कार्य में बदलाव का मन बनेगा। व्यापार का विस्तार होगा। मित्रों से रिश्तों में सुधार होगा।

Posted By: Skand Shukla

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप