रामनगर, जागरण संवाददाता : कार्बेट नेशनल पार्क के फाटो जोन में पर्यटक अभी सफारी का आनंद नहीं उठा पाएंगे। नया जोन खोलने की राह में समय पर काम पूरा नहीं होने और बजट की कमी बाधा बन रही है। जो बजट मिला था वह जोन की तैयारियों में खर्च हो गया। विभाग अभी तक जंगल के भीतर सफारी मार्ग तक नहीं बना पाया है।

तराई पश्चिमी वन प्रभाग जसपुर क्षेत्र के अंतर्गत पहली बार नया फाटो पर्यटन जोन खोल रहा है। जिसमें पर्यटकों को सफारी कराई जा सके। इससे करीब दो सौ जिप्सी चालक व मालिकों को रोजगार मिलने के साथ ही विभाग को भी राजस्व प्राप्त होता। पर्यटन की पूरी कार्ययोजना को अंतिम रूप दे दिया गया था। पर्यटन जोन विकसित करने के लिए 1.88 करोड़ रुपये का प्रस्ताव बनाकर वन विभाग ने शासन को भेज दिया था। छह माह पहले 15 लाख रुपये भी पर्यटन जोन के लिए सरकार की ओर से मिले थे।

चूंकि बीते माह विधायक दीवान सिंह बिष्ट की मौजूदगी में एक नवंबर से फाटो पर्यटन जोन को खोलने की तैयारी को अंतिम रूप दे दिया गया था। जिप्सियों के पंजीकरण की कार्रवाई भी शुरू हो गई थी। लेकिन अभी तक शासन से बजट नहीं मिलने पर एक नवंबर से फाटो पर्यटन जोन को खोलने की तेयारियों में ग्रहण लग गया है। अभी जंगल के भीतर जिप्सी सफारी के लिए 13 किलोमीटर क्षेत्र में कच्ची सड़क तक नहीं बन पाई है। ऐसे में पर्यटन जोन कब तक खुल पाएगा इस पर अधिकारी कुछ कह पाने की स्थिति में नहीं है।

डीएफओ बीएस साही ने बताया कि अभी तक सफारी कराने वाली जिप्सियों का पंजीकरण तक नहीं हुआ है। बजट भी नहीं मिला है। हालांकि अन्य मद से फाटो जोन को विकसित करने का काम चल रहा है।

Edited By: Skand Shukla