नैनीताल, जेएनएन : त्रिस्‍तरीय पंचायत चुनाव के तीन चरणों में हुए मतदान की काउंटिंग सुबह आठ बजे से शुरू हो चुकी है। कुमाऊं के सभी छह जिलों में काउंटिंग चल रही है और अब परिणाम भी आने लगे हैं। अंतिम परिणाम आने तक मतगणना बिना रुके जारी रहेगी। बूथों पर प्रत्‍याशियों और समर्थकों में खासा उत्‍साह देखने को मिल रहा है। सुरक्षा व्‍यवस्‍था भी चुस्‍त-दुरुस्‍त है। सुरक्षा कर्मी हर गतिविधि पर नजर रखे हुए हैं।

नैनीताल

हल्‍द्वानी ब्लॉक

हल्द्वानी ब्‍लॉक के देवला तल्ला गांव में तीन बार काउंटिंग हुई। यहाँ विनीता नौला पहले चार वोट से जीती थी। फिर दो से जीत घोषित हुए।

भीमताल ब्लॉक

भौर्षा से संगीत, उडवा  से इंदिरा देवी, बनना से कमलेश, ढुग सील तल्ला से मुन्नालाल, चक बहेड़ी से दिनेश चंद्र, लवेसाल से हेमा आर्य, सोनगांव से लीलावती, चुनौती से आरती भट्ट, पीनरो से तारा, पस्तोला से खस्ती राघव अमिया से रेनू मेहरा, डेहरा से मनोज सिंह,  मलवा ताल से लक्ष्मण सिंह जंगलिया गांव से राधा कुलियाल, हरिनगर जंगलिया गांव से वीरेंद्र कुमार विजय हुए।

जिलापंचायत गौलापार

जिलापंचायत गौलापार, आमखेड़ा, चोरगलिया से निर्दलीय प्रत्याशी निवेदिता लगभग 500 से अधिक वोटों से जीत की ओर अग्रसर,आधिकारिक घोषणा होना बाकी।

ओखलकांडा ब्‍लॉक

विजय ग्राम प्रधान कूकना उषा देवी, नाई तारी देवी, बलना खिला देवी। नाई से तारी देवी महतोली दिनेश सिंह सुन कोट दिनेश सिंह हरी नगर से ललित मोहन विजय घोषित।

रामनगर

पंचायत चुनाव में क्षेत्रीय विधायक दीवान सिंह बिष्ट की दोनों बहू भी चुनाव जीत गई। यह दोनों सीट विधायक की प्रतिष्ठा से जुड़ी थी। जिस पर उनके परिवार के लोगों ने खूब पसीना भी बहाया था। शंकरपुर भूल से विधायक दीवान सिंह बिष्ट की पुत्रवधू मुस्लिम बाहुल्य वाली सीट से श्वेता बिष्ट क्षेत्र पंचायत सीट से दावेदारी कर रही थीं। इसके अलावा इसी सीट से सटी पुछड़ी से भी विधायक की भाई की बहू कविता बिष्ट भी चुनाव लड़ रही थी। दोनों सीटों पर प्रतिष्‍ठा दाव पर लगी थी। लेकिन परिणाम आने के बाद शंकरपुर भूल से विधायक दिवान सिंह बिष्ट की पुत्रवधू श्वेता बिष्ट व पुछड़ी से कविता ने जीत दर्ज की।

अल्‍मोड़ा परिणाम

लमगड़ा ब्लॉक  : ग्राम पंचायत छाना खरकोटा से रेखा देवी, बुधाण जीवन लाल, चुपड़ा विमला देवी, कुरी बिशन सिंह मनराल, फटकवाल डुंगरा महेंद्र सिंह, झाल डुंगरा से गोविंद सिंह प्रधान चुने गए।

हवालबाग : ग्राम पंचायत क्वैराला से पूरन सिंह, ओडला से कमलेश नेगी, बंगसर से भुवन कांडपाल विजयी रहे।

सल्ट : ग्राम पंचायत तराड़ी से रेनू, तया से लक्ष्मण सिंह, बमौड़ा से सोबन, डांग से महेंद्र सिंह व जाख से दीपक विजयी घोषित।

स्यालदे : ग्राम पंचायत बरंगल से खीमानंद चुने गए।

भिकियासैंण ब्लॉक : ग्राम पंचायत सिरमौली से पुष्कर कुमार, दनपौं से साक्षी वर्मा, डढूली से लता देवी, लवकोट उमा नेगी, रिगड़िया से उमेश करगेती, कोट असवाल सुरेश सिंह विजयी रहे।

चौखुटिया : ग्राम पंचायत नौगांव अखोड़िया से मनीषा, बैरती से ललिता देवी, छाना भूपाल सिंह, गैराड़ हेम चंद्र, पान से हरीश चंद्र भट्ट, बमनगांव विपिन चंद्र, मेहलचौरा माधो सिंह ने जीत हासिल कर ली है।

धौलादेवी ब्लॉक : ग्राम पंचायत खोड़ी से प्रकाश राम, कलोता से महेश चंद्र, कुमड़ से कांति देवी, खेती से ममता पांडे, चौड़ा से गोकुल चंद्र, धूरा से नीमा देवी व जाजर से गंगा देवी विजयी घोषित।

द्वाराहाट : पंचायत चुनावों में कफड़ा न्याय पंचायत से वोटों की गिनती शुरू हुई। ग्राम प्रधान पर इन्होंने जीत दर्ज की।

छबीसा : दिनेश कुमार, कफड़ा- दिनेश चंद्र कबडवाल, सैली सुनोली- इंद्र सिंह, बनोली- प्रशांत सिंह, तैली सुनोली- हेमा बिष्ट, सतीनौगांव- भावना सती, बड़ेत-रेखा बिष्ट, मासर- हेमा देवी। बड़ेत में रेखा ने मंजू को तथा बनोली में प्रशांत ने दीवान सिंह को एक-एक मत से पराजित किया।

चम्पावत के परिणाम

चम्पावत के चारों ब्लॉकों में 69 ग्राम प्रधानों व सात बीडीसी के परिणाम घोषित हो चुके हैं । चम्पावत में 313 ग्राम प्रधानों में 262 ग्राम प्रधानों की चल रही गणना, 49 निर्विरोध निर्वाचित, दो पर नामांकन नहीं हुआ है। चम्पावत के चारों ब्लॉकों में 134 बीडीसी सदस्य, 16 निर्विरोध निर्वाचित, 118 पर चल रही गणना, वही जिले के 15 जिला पंचायत सदस्यों पर अभी जारी है मतगणना।

पाटी से विजयी प्रधान

मानरतल्ला से अनीताा, हौलीपिपलाटी से हेमलता बोरा, खुतेली से प्रकाश सिंह, सिरतोली से विनीता, लड़ी से दीपक सिंह, बांजगांव से अरविंद सिंह, तपनीपाल से भरत सिंह, त्यारसों से प्रकाश सिंह, सिरमोली से बची सिंह, गहतोड़ा से सुभाष चंद्र, सिब्योली से पूरन सिंह।

लोहाघाट से विजयी प्रधान

छतोली से दीपा देवी, पुल्ला से पवन कुमार, बसकुनी से पार्वती देवी, जाखजिंडी से रीता, खायकोटमल्ला से गंगा देवी, नाकोट से मंजू देवी, गुडमांगल से रीता सिंह, रायकोटकुंवर से सरोज, ढोरजा से हुकुम सिंह, टुनकांडे से संजय पांडेय, डुमडई से कमला देवी, शिलिंग से युगल किशोर।

बाराकोट से विजयी प्रधान

ढटीगांव से मुन्नी देवी, रैंघाव से नेहा, रैघाड़ी से शांति देवी, तड़ाग से नेहा तड़ागी, आगर से खष्टी देवी, बैडाबैडवाल से मिनाक्षी जोशी, तल्ला बापरू से कमला देवी, छंदा से शिखा मेहता, दियारतोली से रीता देवी, काकड़ खतेड़ी से पूजा अधिकारी, फरतोला से ममताा, कामाज्यूला से मीरा देवी, खोलासुनार से नीरू वर्मा, तड़ीगांव से हेमा तिवारी, बैडाओड से सुनीता, झिरकुनी से दिनेश चंद्र, खकोड़ा से राजेंद्र सिंह, बंतोली से नारायण सिंह, मल्ला बापरू से नारायण सिंह, इजड़ा से कमल सिंह, गल्ला गांव से रणजीत सिंह, चामी से प्रकाश सिंह, बिसरड़ी से निर्मल नाथ, कोठेरा से पुष्पा देवी।

चम्पावत से विजयी प्रधान

नीड़तल्ली से सुमन कोहली, भगानाभंडारी से अनिल कुमार, कठनौली से जानकी देवी, डिगडई से पूजा मेहता, छतकोट से कविता, पोलप से सरिता देवी, कारी से मुन्नी देवी, तामली से भावना जोशी, वैली से जानकी मौनी, सिमियाउरी से मधु सिंह, खलकडिय़ा से बसंत बल्लभ, पिनाना से रोहित भट्ट, मैरोली से मुकेश कलखुडिय़ा, भंडारबोरा से मीना कुंवर, बुुंगाख्याली से महेश चंद्र, सिप्टी से जगत सिंह, चैड़ाख्याली से भुवन चंद्र, चैकी से मोहन चंद्र पांडेय, चैड़ादुमखरी से जितेंद्र सिंह, रमैला से माया देवी, बचकोट से पुष्कर सिंह,   

यह है निर्विरोध निर्वाचित प्रधान

चम्पावत ब्लॉक में गुदमी से विनीता राणा, फूंगरमाफी से संगीता, दूबडज़ैनल से विनीता, ज्ञानखेड़ा से रवि कुमार, गुरखोलीगूंठ से प्रेम राम, बगेड़ी से राजेंद्र कुमार, मौनपोखरी से नीमा देवी, पुनेठी से सुनीता देवी, खर्ककार्की से विपिन नाथ गोस्वामी, कांडा से आनंद गिरि, बस्टियागूंठ से निर्मला देवी, चैकुनीबोरा से निर्मला देवी, बिरकुल से कुलदीप सिंह, बाराकोट में सील से मीना देवी, बल्सों से आरती देवी, सिंगदा से रेखा देवी, मिरतोली से झीमा देवी, काकड़ी से भुवन राम, पुनियाल सो सुरेश राम, गुमौद से सुनीता, पम्दा से सुनीता गोस्वामी, चमरोली से चंदन सिंह, सलान से रतन सिंह, पाटी ब्लॉक से इजट्टाडुंगरा से मीना, परेवा से सुरेश कोहली, रिखोली से पुष्कर राम, धरसों से माधवी देवी, अमोली से नीशा देवी, भिंगराड़ा से गीता भट्ट, बिनवालगांव से खीमानंद, निलौटी से गिरीश सिंह, वालिक से राजेंद्र सिंह तथा लोहाघाट ब्लॉक में विविल से सावित्री, कोट से मंजू देवी, कोटला से नरेश कुमार, नाकोटखोलिया से पवन राम, निडिल से नारायणी देवी, डूंगरी से रंजना वर्मा, गुरेली से रेखा रावत, कलीगांव से रेखा पुजारी, डुंगरबोरा से गंगा देवी, मंगोली से रेखा देवी, गगनौला से कमला जोशी, मौड़ा से माया देवी, चैड़ीराय से जितेंद्र राय, ठांटा से शिवशंकर पाठक, डुंगरीफत्र्याल से राजेंद्र सिंह फर्त्‍याल, किमतोली से सरिता अधिकारी।

लोहाघाट से निर्वाचित बीडीसी

जाखजिंडी प्रथम से मुकेश कुमार, बसकुनी से बबीता, विविल से दीपा, जाखजिंडी द्वितीय से पुष्पा कलौनी, शिलिंग से दीपक नाथ, पुल्ला से रूपा, किमतोली से देवेंद्र सिंह अधिकारी

ऊधमसिंहनगर

रुदपुर ब्‍लॉक : एएन झा इंटर कॉलेज में चल रही प्रथम चक्र की मतगणना में कुल 24 टेबल लगाई गई हैं। कुछ टेबल पर बीडीसी, और ग्राम पंचायत सदस्य के कुछ पदों का परिणाम आ गया है। लेकिन इसकी घोषणा नहीं कि जा सकी है। आरओ विनय कुमार सिंह का कहना है कि अभी दूसरी टेबलों से भी परिणाम आ जाये तो घोषणा की जाएगी। जैसे जैसे मतगणना पूरी होगी,परिणाम घोषित कर देंगे।

पिथौरागढ़

गंगोलीहाट ब्‍लॉक में क्षेत्र पंचायत सदस्य के तीन परिणाम घोषित। चिटगल से चन्द्रशेखर पंत , उपराडा से जितेंद्र सिंह और पाली से पूजा देवी विजयी रहे। पाली ग्राम पंचायत में ग्राम प्रधान पद पर बराबर मत मिलने से टॉस किया गया। यहां पुष्पा देवी और नीरू देवी को 120- 120 मत मिले। टॉस में पुष्पा देवी जीती।

पिथौरागढ़, जिला पंचायत

चुनाव में बीजेपी को करारा झटका लगा है। पूर्व कैबिनेट मंत्री बिशन सिंह चुफाल की बेटी चिट्गाल गांव से चुनाव हार गई हैं। जिला पंचायत अध्यक्ष की प्रबल दावेदार मानी जा रही थी दीपिका चुफाल।

गलती से दूसरे बॉक्स में पड़े मत भी दर्ज होंगे

इधर, आयोग ने स्पष्ट किया है कि यदि किसी मतदाताओं ने बैलेट पेपर गलत बॉक्स में भी डाल दिए हैं तो उन्हें भी गिनती में शामिल किया जाएगा। दरअसल प्रत्येक बूथ पर आयोग ने दो मत पेटियां रखी हुई थी। एक में प्रधान और पंचायत सदस्य जबकि दूसरे में बीडीसी और जिला पंचायत सदस्य के मत डाले जाने थे। लेकिन मतदाता कई बार मतपत्र गलत पेटी में डाल देते हैं। ऐसे में विवाद की आंशका दो देखते हुए आयोग ने स्पष्ट निर्देश दिए हैं कि दोनों पेटियों के मतपत्र गिने जाने के बाद ही अंतिम परिणाम की घोषणा की जाए। पहले प्रधान और पंचायत सदस्य के मत गिने जाएंगे, इसके बाद बीडीसी और जिला पंचायत सदस्य की गिनती होगी। लेकिन प्रधान और ग्राम प्रधान के परिणाम की घोषणा, बीडीसी और जिला पंचायत की गिनती के बाद ही की जाएगी। राज्‍य में त्रिस्तरीय पंचायत व्यवस्था में ग्राम, क्षेत्र और जिला पंचायत के 65 हजार से ज्यादा पदों के लिए मतदाताओं ने वोट किया है।

आयोग की वेबसाइट पर नतीजे

राज्य निर्वाचन आयुक्त के अनुसार पंचायत चुनाव के नतीजों की जानकारी राज्य निर्वाचन आयोग की वेबसाइट से भी ली जा सकती है। इसमें सुबह से गणना से संबंधित अपडेट जानकारी मिलने लगेगी। वेबसाइट में ग्रामप्रधान, क्षेत्र पंचायत सदस्य व जिला पंचायत सदस्य पदों के परिणाम प्रदर्शित किए जाएंगे। इसके अलावा आयोग की वेबसाइट से मोबाइल एप भी डाउनलोड किया जा सकता है। 

Posted By: Skand Shukla

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप