जागरण संवाददाता , नानकमत्ता (ऊधम सिंह नगर) : नानकमत्ता श्री गुरुद्वारा साहिब परिसर में नृत्य कार्यक्रम को लेकर सिख संगत नाराज है। राष्ट्रीय सिख संगठन के अध्यक्ष जसवीर सिंह विर्क ने कहा कि दिल्ली बॉर्डर पर चल रहे किसान आंदोलन को डायवर्ट करने के लिए नानकमत्ता में ऐसा माहौल पैदा किया गया। जिससे आंदोलन डायवर्ट हो और किसानों को नुकसान हो जाए।

सीएम पुष्कर सिंह धामी के स्वागत में 24 जुलाई को नानकमत्ता गुरुद्वारा में नृत्य और मुकुट पहनाए जाने के कार्यक्रम को लेकर सिख संगत आक्रोश है। नानकमत्ता पहुंचे सिख संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष विर्क ने पत्रकारों से कहा कि सीएम सबके हैं और उनसे किसी तरह की आपत्ति नहीं है। लेकिन इस गलती के लिए गुरुद्वारा प्रबंधन समिति के अध्यक्ष सहित पदाधिकारियों से इस्तीफा मांगा गया है। मगर वह इस्तीफा देने को तैयार नहीं। बोले, यहां जो सारा कांड किया गया है यह पूरे सिख संगत का ध्यान बॉर्डर पर चल रहे आंदोलन से डायवर्ट करने का प्रयास है।

यह आडंबर रचा गया है कि यहां बवाल हो जाए तो सिख संगत का ध्यान बॉर्डर के बजाय इधर हो जाए। सिख संगत बॉर्डर पर न जाकर यहां आकर बैठ जाए। जिससे बॉर्डर फेल हो जाए और किसानों का नुकसान हो जाए। समिति के ही कुछ लोगों को यहां भेजकर बवाल करने का प्रयास किया गया। मगर हमने लोगों को शांत किया और कहा कि ठंडा रहकर हल निकाला जाएगा। छह माह और बचे हैं फिर कमेटी का चुनाव होना है। समिति को 15 दिन की यह मोहलत दी गई है कि समिति के डायरेक्टर आपस में बात कर रास्ता निकाल लें।

Edited By: Skand Shukla