जागरण संवाददाता, हल्द्वानी : चार साल नौ महीने बाद फिर से कांग्रेस का दामन थामने वाले पूर्व कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य के बहाने हल्द्वानी के रामलीला मैदान में कांग्रेस शक्ति प्रदर्शन करेगी। पार्टी के मुताबिक 18 अक्टूबर को होनी वाली जनसभा में हजारों की संख्या में कार्यकर्ता जुटेंगे। इसके अलावा बड़े नेता भी शामिल होंगे। संभावना है कि कार्यक्रम के दौरान आर्य के करीबी रहे कई लोग भी पुन: कांग्रेस में वापसी करेंगे। यशपाल के करीबी रहे लोग कार्यक्रम को भव्य बनाने में जुटे हैं। ताकि कुमाऊं के प्रवेशद्वार हल्द्वानी में विपक्ष की एकजुटता का संदेश जा सके।

40 साल से लंबे वक्त तक कांग्रेस की राजनीति करने वाले यशपाल आर्य ने जनवरी 2017 में भाजपा का दामन थाम लिया था। कांग्रेस में रहकर विधायक, मंत्री, विधानसभा अध्यक्ष व प्रदेश अध्यक्ष तक रहे आर्य के इस फैसले ने सभी को चौंका दिया था। वहीं, शनिवार को दिल्ली में यशपाल आर्य और नैनीताल से विधायक रहे बेटे संजीव आर्य दिल्ली में पार्टी हाईकमान के समक्ष फिर से पार्टी में शामिल हो गए।

राहुल गांधी समेत अन्य बड़े नेताओं से उनकी लंबी मुलाकात भी हुई। बेटे संजीव संग कांग्रेस में आने से पार्टी भी गदगद है। क्योंकि, तराई से लेकर पहाड़ तक की कई विधानसभाओं में आर्य अपना प्रभाव रखते हैं। खुद वह छह बार विधायक रह चुके हैं। कांग्रेस महानगर अध्यक्ष राहुल छिम्वाल ने बताया कि 18 अक्टूबर को रामलीला मैदान में पार्टी कार्यकर्ता व पदाधिकारी यशपाल व संजीव आर्य का स्वागत करेंगे। खास बात यह है कि इसी दिन पूर्व सीएम व कांग्रेस के दिग्गज नेता एनडी तिवारी की जयंती भी है।

Edited By: Skand Shukla