जागरण संवाददाता, नैनीताल : प्रदेश में समान नागरिक संहिता का ड्राफ्ट तैयारी की कवायद जोरों पर है। विशेषज्ञ समिति अध्यक्ष व सदस्यों ने आम लोगों के साथ बैठक की। विशेषज्ञों ने राजनैतिक, शिक्षा, कानून और अन्य सामाजिक क्षेत्रों से जुड़े लोगों के विभिन्न बिंदुओं पर सुझाव लिए।

मंगलवार को नैनीताल क्लब में विशेषज्ञ समिति अध्यक्ष पूर्व जस्टिस रंजना देसाई की अध्यक्षता में हुई बैठक में समिति सदस्यों ने विवाह कानून व उम्र, शादी पंजीकरण, धर्म परिवर्तन, बुजुर्गो को बच्चों की प्रापर्टी में हिस्सेदारी, महिला अधिकार, लिविंग रिश्ते में पैदा हुए बच्चों के अधिकार समेत तमाम बिंदुओं पर लोगों से सुझाव मांगे।

बैठक में शादी की उम्र को बढ़ाने और महिलाओं को समाज में पुरुषों के बराबर का अधिकार देने की बात जोरशोर से उठी। समिति सदस्य पूर्व मुख्य सचिव शत्रुघ्न सिंह ने बताया कि दो दिवसीय कार्यक्रम में सकारात्मक सुझाव सामने आए है। अधिकांश लोगों ने समान नागरिक संहिता को सराहनीय और समय की जरूरत बताया है।

अब तक प्रदेश भर में की गई बैठकों में महिलाओं को बराबरी का अधिकार देने का मुद्दा सर्वाधिक प्रमुख रहा है!कमेटी की ओर से निर्धारित बिंदुओं के अलावा कई अन्य बिंदुओं पर चर्चा हुई है। जिसको कानून में शामिल करने पर कमेटी की ओर से विचार किया जाएगा। बैठक में समिति सदस्य पूर्व जस्टिस प्रमोद कोहली, मनु गौड़, व्यापार मंडल अध्यक्ष मारुिति नंदन साह, आशा शर्मा, प्रो नीता बोरा शर्मा, चंद्रकला रावत, डॉ मनोज लोहनी, गोपाल रावत, मनोज जोशी, हरीश राणा, गजाला कमाल समेत तमाम लोग मौजूद रहे।

दो माह में तैयार हो जाएगा ड्राफ्ट

पूर्व सीएस सिंह ने बताया कि ड्राफ्ट बनाने को लेकर पूरे प्रदेश के सभी धर्म, जाति और वर्ग के व्यक्तियों से सुझाव लिए जा चुके है। 25 नवंबर तक कुमाऊं के अल्मोड़ा और बागेश्वर में भी बैठके की जानी है। बताया कि सुझाव मिलने के बाद कमेटी को करीब दो माह का समय ड्राफ्ट बनाने में लग जाएगा। जिसके बाद ड्राफ्ट सरकार को सौप दिया जाएगा।

Edited By: Skand Shukla

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट