जागरण संवाददाता, हल्द्वानी : कोविड संक्रमण तेजी से बढऩे लगा है। अस्पतालों में संक्रमित मरीज भर्ती होने लगे हैं। ऐसे में कोरोना पीडि़तों के इलाज को लेकर व्यवस्थाओं का जायजा लेने शुक्रवार को सीएम पुष्कर सिंह धामी डा. सुशीला तिवारी राजकीय चिकित्सालय पहुंचे। उन्होंने जनरल बीसी जोशी अस्थायी कोविड अस्पताल का भी निरीक्षण किया और कहा कि जानमाल की सुरक्षा हमारी प्राथमिकता है।

सीएम ने सभी जिलाधिकारियों, मुख्य चिकित्सा अधिकारियों को अलर्ट रहने के निर्देश दिए हैं। कहा कि डा. सुशीला तिवारी अस्पताल में कुमाऊं भर के मरीज आते हैं। यहां पर सभी व्यवस्थाएं दुरुस्त होने चाहिए। सीएम ने अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड, ओपीडी कक्ष के साथ ही आक्सीजन प्लांट का भी निरीक्षण किया। इसके बाद वह डीआरडीओ निर्मित अस्थायी कोविड अस्पताल पहुंचे, जहां प्राचार्य प्रो. अरुण जोशी, चिकित्सा अधीक्षक डा. विवेकानंद सत्यवली, सीएमओ डा. भागीरथी जोशी से व्यवस्थाओं की जानकारी ली। डीआरडीओ निदेशक डा. मधुबाला ने भी सीएम को कोविड अस्पताल की सुविधाओं से अवगत कराया। 

इस समय हमारे पास 1120 बेड  : प्राचार्य

सीएम को प्राचार्य प्रो. जोशी ने बताया कि एसटीएच में 620 बेड हैं, जबकि अस्थायी कोविड अस्पताल में 500 बेड हैं। इस समय अस्थायी कोविड अस्पताल के 500 बेड और एसटीएच में 50 बेड कोविड के लिए आरक्षित हैं। जरूरत पडऩे पर एसटीएच में 476 बेड की व्यवस्था हो सकती है। एक हजार एलपीएम क्षमता के दो, पीएम केयर फंड के 500 एलपीएम क्षमता के दो के अलावा एक हजार एलपीएम क्षमता के दो आक्सीजन प्लांट हैं। वहीं, अस्थायी कोविड अस्पताल में 20 केएल क्षमता का आक्सीजन प्लांट है। 

रोगियों से मिलकर जानी कुशलक्षेम

सीएम ने ओपीडी में ही पहाड़पानी की कलावती से बात की। उससे इलाज के बारे में पूछा। कलावती ने बताया कि सबकुछ ठीक चल रहा है। सीएम ने इमरजेंसी, प्रधानमंत्री जनऔषधि केंद्र व पास के मेडिकल स्टोर को भी देखा। 

खिचड़ी खाई और पांच हजार रुपये प्रतिमाह देने का किया वादा

निरीक्षण करने के बाद सीएम सीधे थाल सेवा पहुंच गए। वहां पर उन्होंने गरीब मरीजों के लिए उपलब्ध पांच रुपये थाल का भोजन किया। उनके साथ जिलाध्यक्ष प्रदीप बिष्ट ने भी भोजन किया। इस दौरान सीएम ने प्रतिमाह भोजन के लिए पांच हजार रुपये देने का वादा किया। साथ ही कहा कि यह मैं बतौर सीएम नहीं, बल्कि स्वयं अपनी ओर से दूंगा। दिनेश मानसेरा ने थाल सेवा के बारे में जानकारी दी।

उपनलकर्मियों ने सीएम को घेरा 

सीएम जैसे ही एसटीएच के गेट पर पहुंचे। उपनलकर्मियों ने उन्हें घेर लिया। उपनल कर्मचारी नेता पीएस बोरा ने कहा कि आपका वादा पूरा नहीं हुआ। जब वह थाल सेवा काउंटर से बाहर निकले तो महिला उपनलकर्मियों ने सीएम के पैर पकड़ लिए और रोते हुए कहने लगी, आपकी बात कोई सुनता नहीं है। शंकर कोरंगा ने ही आपसे वार्ता कराने के बाद हमारे आंदोलन को खत्म कराया था। उन्होंने हमारे साथ धोखा किया। इस तरह का वीडियो अब वायरल हो रहा है।

Edited By: Prashant Mishra