नैनीताल, जेएनएन : एक बार फिर से नैनीताल से हाई कोर्ट को शिफ्ट करने की चर्चाएं तेज हो गई हैं। मुख्य न्यायाधीश ने वरिष्ठ अधिवक्ताओं के साथ बैठक कर नैनीताल में हाई कोर्ट के लिए जगह कम होना बताते हुए इस संबंध में सुझाव भी मांगे हैं। हाई कोर्ट बार एसोसिएशन ने कहा कि दीपावली अवकाश के बाद इस संबंध में बैठक बुलाकर विचार विमर्श किया जाएगा। जबकि अधिवक्ताओं के एक तबके ने नैनीताल से हाई कोर्ट को शिफ्ट करने के विरोध को लेकर बुधवार को हाई कोर्ट बार सभागार में बैठक बुलाई है। मुख्य न्यायाधीश के इस मामले में अधिवक्ताओं के साथ बैठक करने से यह मुद्दा फिर से गरमाने के आसार बन गए हैं।

मंगलवार को मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति रमेश रंगनाथन ने हाई कोर्ट सभागार में वरिष्ठ अधिवक्ताओं के साथ बैठक की। इस बैठक का विषय था, हाई कोर्ट के लिए जगह कम होना है। मुख्य न्यायाधीश ने इस मामले में सुझाव देने के साथ ही यह बताने को कहा कि हाई कोर्ट के लिए नैनीताल में कौन सी जगह उपयुक्त है। पूर्व सांसद व वरिष्ठ अधिवक्ता डॉ. महेंद्र पाल ने दो टूक कहा कि हाई कोर्ट स्थापना का नोटिफिकेशन नैनीताल का है, लिहाजा अन्यत्र शिफ्टिंग नहीं हो सकती। उन्होंने शिमला में भी कम जगह होने का उदाहरण भी दिया। हाई कोर्ट बार एसोसिएशन अध्यक्ष पूरन सिंह बिष्टï व सचिव जयवर्धन कांडपाल ने कहा कि इस मुद्दे पर बार की आम सभा की बैठक दीपावली अवकाश के बाद बुलाई जाएगी। बैठक में वरिष्ठ अधिवक्ता मोहन चंद्र पांडे, असिस्टेंट सोलीसीटर जनरल राकेश थपलियाल, बीसी पांडे, टीए खान, राजेंद्र डोबाल, सैय्यद नदीम मून, केएस रौतेला, योगेश पचौलिया, बीके कोहली व अन्य थे।

Posted By: Skand Shukla

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप