जागरण संवाददाता, लोहाघाट : नेपाल सीमा क्षेत्र के मडलक पंचायत के ग्राम प्रधान के खिलाफ पंचायत चुनाव में हाईस्कूल का फर्जी प्रमाण पत्र लगाने के आरोप में पंचेश्वर कोतवाली में विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है। बताया जा रहा है कि यदि जांच में मामला सही पाया गया तो प्रधान पर कार्रवाई तय है। इसके साथ ही प्रधानी भी जाएगी। प्रधान पर केस दर्ज होने के बाद क्षेत्र में चर्चा का बाजार गर्म है।

वर्ष 2019 में ग्राम प्रधान भुवन चंद्र भट्ट मडलक के ग्राम प्रधान निर्वाचित हुए थे। उस समय पंचायत चुनाव में हाईस्कूल पास होना अनिवार्य था। ग्राम प्रधान ने नामांकन पत्र में 1998 में उत्तर प्रदेश के बलिया जिले के कर्ण छपरा के नरहरि बाबा इंटर कालेज से हाईस्कूल उत्तीर्ण करने का प्रमाणपत्र लगाया था। प्रधान पद के दूसरे प्रत्याशी लक्ष्मीदत्त पांडेय ने वर्ष 2021 के मार्च में पंचेश्वर कोतवाली में फर्जी प्रमाणपत्र की शिकायत की थी। कोतवाल दीवान सिंह ग्वाल ने बताया कि पुलिस ने कर्णछपरा के नरहरि बाबा इंटर कालेज जाकर जांच की तो कालेज प्रशासन ने 1998 में इस नाम के व्यक्ति द्वारा हाईस्कूल नहीं किए जाने की बात कही। पुलिस ने आरोपित के खिलाफ आइपीसी की धारा 420, 466, 468 और 471 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है। कोतवाल दीवान सिंह मामले की जांच कर रहे हैं। इधर, ग्राम प्रधान भुवन भट्ट का कहना है कि उसने हाईस्कूल की परीक्षा राजकीय बलिया जिले के इंटर कालेज सरी में पेपर दिए थे। उसके पास इसके दस्तावेज मौजूद हैं। विद्यालय का सीरियल नंबर भी है। दस्तावेजों में भुवन तिवारी है, जबकि उसका नाम भुवन भट्ट है। शीघ्र इलाहाबाद बोर्ड से दस्तावेज लाकर प्रस्तुत किए जाएंगे।

Edited By: Prashant Mishra