जागरण संवाददाता, नैनीताल : 1890 में स्थापित प्रतिष्ठित बोट हाउस क्लब प्रबंध कार्यकारिणी के चुनाव में पुराने चेहरों ने फिर बाजी मारकर आलोचकों को करारा जवाब दिया है। प्रबंध कमेटी के नवनिर्वाचित सदस्यों के समक्ष वार्षिक साधारण सभा की बैठक में पारित प्रस्तावों के क्रियान्वयन की चुनौती है। इसमें सर्वाधिक चुनौतीपूर्ण ई-वोटिंग के लिए 75 फीसद सदस्यों के ई-मेल पते जुटाना है। प्रबंध कमेटी के निर्वाचित सदस्यों ने सर्वसम्मति से डीके शर्मा को फिर सचिव, नसीम ए खान को वरिष्ठ उपाध्यक्ष व विजय साह को संयुक्त सचिव चुना।

रविवार को गहमागहमी के बीच बोट हाउस क्लब में मतगणना हुई। मुख्य चुनाव अधिकारी एमसी कांडपाल व रिटर्निग अफसर अधिवक्ता ललित शर्मा द्वारा मतगणना कराने के साथ ही परिणामों की घोषणा की गई। प्रबंध कार्यकारिणी के नौ पदों के लिए 12 प्रत्याशी मैदान में थे। विजयी प्रत्याशियों में नसीम ए खान को सर्वाधिक 348, डीके शर्मा को 344, जेएस सरना को 324, विजय साह को तीन सौ, राखी विर्क सिब्बल को 295, दीप साह 284, आरके कर्नाटक 280, मोहन चंद्र पांडे को 267 तथा पंकज जायसवाल को 259 वोट मिले। जबकि पराजित प्रत्याशियों में टीएस रौतेला को 231, पूजा बांगा को 78 तथा गणेश मिश्रा को 65 मत मिले। कुल पड़े 493 मतों से 27 मत अवैध घोषित किए गए। चुनाव प्रक्रिया निपटाने में वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी गोविंद बल्लभ जोशी, दीवान सिंह, चंदन जोशी समेत अन्य जुटे रहे।

शर्मा व नसीम ने फिर दिखाई ताकत

बोट हाउस क्लब के वरिष्ठ उपाध्यक्ष चुने गए नसीम ए खान पिछले 35 साल से प्रबंध कमेटी के लिए निर्वाचित हो रहे हैं। जबकि पिछले 12 साल से उपाध्यक्ष हैं। खान 1989 से 91 के बीच बरेली नगर निगम के डिप्टी मेयर व मेयर भी रह चुके हैं। जबकि सचिव चुने गए डीके शर्मा हाई कोर्ट बार एसो. अध्यक्ष, उत्तराखंड बार काउंसिल चेयरमैन, अपर महाधिवक्ता रह चुके हैं। वह 2002 से लगातार प्रबंध कमेटी के लिए निर्वाचित हो रहे हैं। शर्मा ऊधमसिंह नगर जिला बार एसोसिएशन के भी अध्यक्ष रहे हैं। प्रबंध कमेटी में लगातार दूसरी बार महिला को प्रतिनिधित्व मिला है और राखी विजयी हुई हैं। बोट हाउस क्लब के कमिश्नर पदेन अध्यक्ष व डीएम पदेन उपाध्यक्ष होते हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस