काशीपुर, जेएनएन : विभिन्न बैंक शाखाओं के कर्मचारी दो बजे के बाद नकद लेन-देन तथा कार्य करने में टाल-मटोल करते देखे जाते हैं। कुछ बैंक काउंटर तो भोजनावकाश के बहाने लंबे समय तक बंद कर दिए जाते हैं जबकि यह नियमों का उल्लंघन तथा उपभोक्ता सेवा में कमी है। यह खुलासा सूचना अधिकार कार्यकर्ता नदीमउद्दीन को प्रमुख बैंकों द्वारा उपलब्ध कराई गई सूचना में हुआ।

इस संदर्भ में मांगी गई थी सूचना

विभिन्न प्रमुख बैंकों के लोक सूचना अधिकारियों से बैंक शाखाओं में कार्य का समय, भोजनावकाश का समय तथा उस समय में कार्यों की वैकल्पिक व्यवस्था, जीएसटी आयकर तथा नकद जमा व निकासी का समय तथा चेक जमा की रसीद देने के संबंध में सूचना मांगी गई थी। इसके जवाब में भारतीय स्टेट बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा, ओरिएंटल बैंक, इलाहाबाद बैंक, बैंक ऑफ इंडिया के लोक सूचना अधिकारियों ने सूचना उपलब्ध कराई है। सूचना के अनुसार बैंक शाखाओं में नकद लेन-देन, टैक्स जमा सहित ग्राहकों के सभी कार्य करने का समय 10 बजे से 4 बजे तक है। कर्मचारियों के लिए भोजनावकाश का समय केवल आधे घंटे का है परंतु विभिन्न बैंकों में इस अवधि में भी वैकल्पिक व्यवस्था करके काउंटर खुला रखना तथा ग्राहकों के लिए कार्य करने का प्रावधान है।

लंच में भी वैकल्पिक व्‍यवस्‍था का प्रवाधान

ओरिएंटल बैंक आफ कामर्स के मंडल कार्यालय हल्द्वानी के लोक सूचना अधिकारी पंकज शाह के कार्य समय के संबंध में विवरण के अनुसार बैंक कर्मचारियों को 10 बजे से 4 बजे तक (नकद व गैर नकदी कार्य) ग्राहकों को उपलब्ध कराने की तैयारी करने के लिए बैंक शाखा में 9.45 पर पहुंच जाना चाहिए तथा चार बजे तक बैंक शाखा में प्रवेश कर चुके ग्राहकों का कार्य करना चाहिए। भोजनावकाश कर्मचारियों के लिए आधे घंटे का होगा लेकिन इसे बारी-बारी से कर्मचारी लेंगे तथा बैंक काउंटर खुले रखे जाएंगे। साथ ही ग्राहकों को बैंक सेवाएं 10 बजे से 4 बजे तक प्रदान की जाएगी। बैंक ऑफ बड़ौदा के लोक सूचना अधिकारी ने भी 10-4 बजे तक अबाध्य बैंक सेवाएं देने का प्रावधान बताया है। इलाहाबाद बैंक तथा बैंक ऑफ इंडिया के लोक सूचनाधिकारियों ने भोजनावकाश के समय में भी ग्राहकों को किसी न किसी कर्मचारी के माध्यम से सेवाएं देने की जानकारी दी है।

कर्मचारी के काम  से इंकार करने पर जा सकते हैं उपभोक्ता फोरम

भारतीय स्टेट बैंक के लोक सूचनाधिकारी ने नकद लेने-देन सहित बैंक शाखा में कार्य का समय 10 बजे से 4 बजे तक बताया है। इस अवधि में आधे घंटे का भोजनावकाश सूचित किया गया है लेकिन इस दौरान शाखा में कोई एक काउंटर चालू अवस्था में रहना चाहिए। सभी बैंकों ने कार्य समय के बोर्ड लगे होना तथा चेक कलेक्शन के लिए काउंटर पर जमा करने पर कर्मचारी द्वारा रसीद देने की बात कही है। यदि कोई बैंक कर्मचारी निर्धारित बैंक समय में नकद, लेन-देन, टैक्स जमा सहित किसी बैंङ्क्षकग कार्य से इंकार करता है तो यह उपभोक्ता सेवा में कमी मानी जाएगी। इसकी जहां संबंधित बैंक के उच्च अधिकारियों को शिकायत की जा सकती है। वहीं, बैंकिंग लोकपाल तथा उपभोक्ता फोरम की भी शरण ली जा सकती है।

यह भी पढें : बीएचयू में डॉ. फिरोज खान का विरोध करने वाले शालिमा तबस्सुम और जैनब के बारे में भी जान लें

यह भी पढ़ें : इंसानों को अपना शिकार बनाने वाले बाघों को अब आदमखोर नहीं, खतरनाक कहा जाएगा बाघ

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस