हल्द्वानी, जेएनएन : ठीक से याद नहीं, लेकिन साठ-सत्तर के दशक के आसपास अटल बिहारी वाजपेयी चुनावी जनसभा करने हल्द्वानी आए थे। यहीं रामलीला मैदान में उन्होंने सभा को संबोधित करते हुए पार्टी कार्यकर्ताओं में जोश भरा था। उस समय वह युवा हृदय सम्राट के नाम से विख्यात थे। उनका भाषण सुनने के लिए बड़ी संख्या में आसपास के क्षेत्रों से भीड़ जुटी थी।

भोलानाथ गार्डन निवासी 78 वर्षीय वेद प्रकाश अग्रवाल अटल बिहारी वाजपेयी सहित संघ से जुड़े तमाम नेताओं के काफी करीबी रहे हैं। वह बताते हैं कि सन 1954-55 में वह संघ में सक्रिय हुए इसके बाद वर्ष 1960 में अटल जी हल्द्वानी में आरएसएस की शाखा में आए थे और उसके बाद उन्होंने यहां चुनावी रैलियां भी कीं। तब चाहे लोकसभा चुनाव हो या विधानसभा के चुनाव, कार्यकर्ता रातभर पर्चियां लिखते थे और सुबह घर-घर जाकर मतदाताओं को वह पर्चियां बांटी जातीं। कार्यकर्ताओं को बूथ पर आज की तरह लंच पैकेट नहीं मिलते थे, केवल चना-गुड़ दिया जाता था, जिसे खाकर कार्यकर्ता अपनी ड्यूटी निभाते। वेद प्रकाश अग्रवाल बताते हैं कि साठ-सत्तर के दशक में बेहद सीमित संसाधनों में प्रत्याशी चुनाव लड़ते थे। कार्यकर्ता तन-मन-धन से अपनी पार्टी प्रत्याशी के लिए काम करते थे। बिना किसी सुविधा के रात-दिन पैदल तो कभी साइकिल पर माइक लगाकर चुनाव चिह्न का खूब प्रचार किया जाता था।

यह भी पढ़ें : सीएम समेत भाजपा के दिग्‍गज मोदी मैदान में जुटे, अलग-थलग दिखे मंत्री अरविंद पांडे

Posted By: Skand Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस