जागरण संवाददाता, हल्द्वानी : धरना प्रदर्शन में शामिल होने जा रही आशा वर्कर को सम्मोहित कर एक ठग मंगलसूत्र व कुंडल लेकर फरार हो गया। थाने में शिकायत के बाद पुलिस मौके पर पहुंची। हालांकि सीसीटीवी कैमरे खंगालने पर भी ठग का कोई सुराग नहीं लग सका। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है।

ओखलकांडा निवासी ऊषा देवी ने पुलिस को बताया कि वह आशा वर्कर है। सोमवार को बेस अस्पताल में आशा वर्करों का धरना-प्रदर्शन चल रहा था। वह धरने को समर्थन देने पहुंची थी। सुबह 10 बजे ओके होटल के पास पहुंचते ही उसे एक युवक मिल गया। जिसने उसे बातों में फंसाकर सम्मोहित कर सोना बढ़ाने का झांसा दिया। गले से मंगलसूत्र व कुंडल उतरवाकर एक कागज में रख दिए।

युवक ने कागज बाद में खोलने की बात कही। उसने कागज खोलकर देखा तो कुंडल व मंगलसूत्र गायब था और ठग भाग चुका था। इसके बाद आशा वर्कर थाने पहुंची और पुलिस की घटनाक्रम बताया। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर सीसीटीवी कैमरे खंगाले। पुलिस बहुउद्देश्यीय भवन में भी कैमरे चेक किए गए। लेकिन ठग का कुछ पता नहीं चला।

कोतवाल हरेंद्र चौधरी ने बताया महिला की ओर से तहरीर नहीं मिली है। आरोपित ठग की तलाश की जा रही है। उन्होंने कहा कि ऐसे मामलों में जागरूकता ही सबसे बड़ा हथियार है। ऐसे ठगों के झांसे में आने की बजाए समय से उनकी जानकारी पुलिस को दें।

Edited By: Skand Shukla