जागरण संवाददाता, हल्द्वानी: शौक बड़ी चीज होती है। इसकी कोई सीमा नहीं है। किसी को अभिनेता बनाने का शौक होता है तो कोई राजकीय सेवा में ऊंचे पद पर बैठने के लिए दिन-रात मेहनत करता है, लेकिन हल्द्वानी के देवलचौड़ निवासी अनिल साही का शौक दूसरों से हटकर है। भगवान शिव के भक्त अनिल पर शिव के ओमकार मंत्र ओम के अलग-अलग डिजाइन बनाने की ऐसी धुन सवार हुई कि रोजाना एक नया डिजाइन तैयार करने लगे। अब तक वह एक हजार से ज्यादा डिजाइन बना चुके हैं। मूल रूप से नैनीताल जिले के पदमपुरी के रहने वाले अनिल गिनीज बुक ऑफ व‌र्ल्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज कराना चाहते हैं। इसके लिए उन्होंने ओम को चुना है। वह ओम के एक लाख डिजाइन तैयार करने में जुटे हैं। उन्होंने बताया कि भगवान शिव से ही उन्हें इसकी प्रेरणा मिली। ओम बनाकर शांति और सुकून का अनुभव होता है। रिकॉर्ड बनाकर पूरी दुनिया को वह ओमकार से परिचित कराना चाहते हैं। अनिल बताते हैं कि उनका हरेक डिजाइन एक दूसरे से पूरी तरह अलग है। उनका कहना है कि सोशल मीडिया और इंटरनेट पर व्यस्त रहने वाले युवा इन डिजाइनों के जरिये भारतीय संस्कृति और अध्यात्म को अपनाने के लिए प्रेरित होंगे। अनिल कहते हैं कि वह सिर्फ ओम ही नहीं बनाते, इसके साथ ही शिव के भजन भी लिख रहे हैं। ओमकार और शिव से जुड़े पचास भजन वह तैयार कर चुके हैं।