जागरण संवाददाता, अल्मोड़ा : जिले में लगातार बढ़ती कोरोना की दूसरी लहर तथा बढ़ते संक्रमण से बचाव को दिशा निर्देशों का कड़ाई से अनुपालन कराने में लापरवाही पर कप्तान ने कड़ा रुख अपना लिया है। बगैर मास्क बाजार में घूम रहे लोगों तथा शारीरिक दूरी का नियम तोडऩे वालों पर रहम करना कोतवाल व तीन अन्य दारोगाओं पर भारी पड़ गया। एसएसपी ने दिशा निर्देशों पर अमल न करने को अनुशासनहीनता व कोरोनाकाल में बड़ी लापरवाही मानते हुए तीनों पुलिस कर्मियों को तत्काल प्रभाव से लाइन हाजिर कर दिया है।

अल्मोड़ा जिले में कोरोना संक्रमण की रफ्तार लगातार बढ़ रही है। बीते मंगलवार शाम तक विभिन्न विकासखंडों में 253 नए संक्रमित पाए गए थे। दो मरीजों की मौत भी हुई। जनपद में कुल संक्रमितों का आंकड़ा 6200 का आंकड़ा पार कर चुका है। सक्रिय केस 1266 हैं। इधर, महामारी को हराने के लिए कप्तान पंकज भट्ट ने कोतवाल, थाना व चौकी प्रभारियों को सलाह व सख्ती के निर्देश दिए थे। बेवजह भीड़ जुटाने तथा कोवि-19 के नियमों की धज्जी उड़ाने वालों पर सख्त कार्रवाई के निर्देश भी दिए गए हैं। मगर बाजार क्षेत्र में शारीरिक दूरी के नियम जहां रोज टूट रहे हैं।

वहीं बगैर मास्क बाजार घूमने वाले भी बाज नहीं आ रहे। बढ़ते संक्रमण से बेपरवाह लोगों के साथ नरमी से पेश आने तथा दोपहर दो बजे दुकानें बंद होने के बावजूद लोगों की आवाजाही की गोपनीय शिकायत पर एसएसपी पंकज ने खासी गंभीरता से लिया है। उन्होंने तत्काल प्रभाव से कोतवाल हरेंद्र चौधरी, धारानचौकी प्रभारी ओमप्रकाश सिंह नेगी, बेस चौकी प्रभारी सौरभ भारती व एनटीडी चौकी प्रभारी राजत कसाना को तत्काल प्रभाव से लाइन हाजिर कर दिया है। कप्तान की कार्रवाई से मातहतों में हड़कंप है।

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप