हल्‍द्वानी, जेएनएन : निजामुद्दीन मरकज के तब्लीगी जमात में शामिल होने वाले जमातियों में कोरोना वायरस पॉजिटिव मिलने का सिलिसला थम नहीं रहा है। उत्तर प्रदेश के रामपुर में कोरोना पाॅजिटिव पाए गए पांच जमाती उत्तराखंड हल्द्वानी के निवासी हैं। उन्हें रामपुर के ही टांडा तहसील स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में आइसोलेट किया गया है। जबकि उनके अन्य छह साथियों को जिला अस्पताल में क्वारंटाइन किया गया है। बता दें कि निजामुद्दीन मरकज से हल्द्वानी लौटे पांच जमातियों में पहले भी कोरोना वायरस पॉजिटिव मिल चुका है। उन्हें सुशीला तिवारी मेडिकल कॉलेज में आइसोलेट कर उपचार कराया जा रहा है।

दो अप्रैल को जंगल के रास्ते आ रहे थे 

रामपुर जिले की तहसील टांडा के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में क्‍वारंटाइन किए गए 11 जमातियों की जांच में पांच कोरोना पॉजीटिव पाए गए हैं। इससे प्रशासन में हड़कंप मचा है। रिपोर्ट आने के बाद छह जमातियों को इनसे अलग कर दिया है। उन्हें जिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में शिफ्ट कर दिया है, जबकि कोरोना वायरस पॉजीटिव पांचों को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में ही रखा गया है। अब इनमें संक्रमण की आशंका के चलते दोबारा जांच कराई जाएगी। इन 11 जमातियों को पुलिस ने दो अप्रैल को जंगल के रास्ते क्षेत्र में आते समय पकड़ा था। पूछताछ में पता चला था कि ये सभी हल्द्वानी उत्तराखंड के रहने वाले हैं।

पांचों की तबीयत फिलहाल सामान्य

सभी जमाती दिल्‍ली मरकज से लौटे थे और 22 मार्च से पहली अप्रैल तक मुरादाबाद में रुके थे। इन सभी को टांडा के सरकारी अस्पताल में क्‍वारंटाइन किया गया था। इनके सैंपल जांच के लिए भेजे गए थे। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. सुबोध कुमार शर्मा ने बताया कि आठ की जांच रिपोर्ट बुधवार शाम मिली है, जिसमें पांच पॉजीटिव मिले हैं। राहत की बात यह है कि पांचों की तबीयत अभी ठीक है। कोई लक्षण नजर नहीं आ रहे हैं। एहतियात के तौर पर पांचों को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में ही रखा गया है, जबकि इनके साथ के अन्य छह लोगों को अब जिला अस्पताल में शिफ्ट कर दिया है। जिलाधिकारी आन्जनेय कुमार सिंह ने बताया कि कोरोना वायरस संक्रमित पांच पॉजीटिव केस मिलने पर टांडा क्षेत्र को सील कर दिया है।

शुक्र रहा हल्द्वानी तक नहीं पहुंच पाए जमाती

पिछले दिनों मरकज से लौटने के बाद चोरी छिपे बहुत से जमाती उत्तराखंड में घुस आए। बड़ी तादाद में ऐसे लोगों को गौलापार में क्वारंटाइन किया गया है। एेसे में रामपुर पुलिस ने इन जमातियों को न पकड़ा होता तो ये ऊधमिसंहनगर और नैनीताल में जिले में जाने-अंजाने बड़ी तादाद में लोगों को संक्रमित कर देते। पिछले दिनों ऊधमसिंह नगर पुलिस की मुस्तैदी की वजह से भी हल्द्वानी में कोरोना जैसा बड़ा संकट आने से टल गया था। चोरी-छिपे रेल पटरी पकड़कर पैदल ही हल्द्वानी आ रहे जमात के लोगों को रुद्रपुर पुलिस ने पकड़ा था और उनमें भी चार लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। हल्द्वानी में जिस जगह पर इन लोगों का घर है वो सबसे घनी आबादी वाला एरिया है। यूपी बॉर्डर पार कर यह लोग राज्य की सीमा में प्रवेश कर चुके थे। अगर इसके बाद भी कोई चूक होती तो स्थिति पर नियंत्रण पाना बेहद मुश्किल हो जाता।

यह भी पढें 

जिम काॅर्बेट पार्क में हाथियों के लिए बनाए गए आइसोलेशन वार्ड, महावत नहीं जा सकेंगे घर 

क्वारंटाइन सेंटर में फांसी लगाकर खुदकशी करने के मामले में मजिस्ट्रेटी जांच के आदेश

आइसोलेट जमातियों ने घर के खाने और नाइट ड्रेस के लिए किया हंगामाl

रिटायर्ड होने के बावजूद कोरोन से लड़ने के लिए रंजना ने फिर ज्वाइन किया हॉस्पि‍टल

 

Posted By: Skand Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस