जागरण संवाददाता, काशीपुर : एटीएम में कैश लोड करने वाली कंपनी सीएमएस इन्फो सिस्टम के 2 एजेंटों ने एटीएम में लोड करने के लिए मिला पैसा खुद ही हड़प कर लिया। जानकारी होने पर कंपनी के ब्रांच मैनेजर ने कोतवाली में धोखाधड़ी समेत कई धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। 

सीएमएस इन्फो सिस्टम लिमिटेड नियर उत्सव गार्डन रजनीगंधा कंपलेक्स नैनीताल रोड हल्द्वानी के ब्रांच मैनेजर विजय सिंह ने कोतवाली पुलिस को तहरीर देकर बताया था कि उनकी कंपनी विभिन्न बैंकों के एटीएम में कैश लोड करने का काम करती है। काशीपुर में मोहल्ला थाना साबिक निवासी देवेश यादव पुत्र ओम प्रकाश और मुरादाबाद के बढ़पुरा मजरा महेशपुर खेम मानपुर निवासी वैभव भारद्वाज पुत्र चेतन शर्मा काशीपुर में उनकी कंपनी के कैश कस्टोडियन एजेंट के रूप में कार्य करते थे।

15 फरवरी को कंपनी की टीम की जांच में सामने आया कि दोनों एजेंटों ने 16 लाख रुपये की रकम का गबन कर लिया है। टीम ने जांच के दौरान पाया कि 27 और 29 जनवरी को जो कैश लोड किया गया उसमें से 16 लाख निकासी में दिखाकर रिपोर्ट बंद कर दी गई। जिसके चलते मामला कुछ समय बाद सामने आया। एक कस्टोडियन देवेश यादव अपना इस्तीफा देकर 12 फरवरी को चला गया। अब वह काशीपुर में नहीं है। उसके पिता का कहना है कि देवेश की सरकारी नौकरी लगने के कारण वह बाहर चला गया है। जबकि दूसरा आरोपित देवेश भारद्वाज अभी भी एटीएम रूट पर ही काम कर रहा है।

ब्रांच मैनेजर ने कहा कि आरोपितों ने धोखाधड़ी और आपराधिक साजिश कर कंपनी सीएमएस इन्फो सिस्टम का यह पैसा गबन कर लिया है। उन्होंने कोतवाली पुलिस को तहरीर देकर मामला दर्ज करने की मांग की थी। इसके आधार पर सोमवार देर रात कोतवाली पुलिस ने घटना की रिपोर्ट दर्ज कर ली। इंस्पेक्टर कोतवाली संजय पाठक ने बताया कि पुलिस मामले की जांच कर रही है। जल्द ही साक्ष्य जुटाकर आरोपितों की गिरफ्तारी की जाएगी।

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप