विनोद भंडारी, रुद्रपुर : Scholarship Scam : दशमोत्तर छात्रवृत्ति घोटाले की जांच कर रही एसआइटी यूएस नगर के शैक्षिक संस्थानों में अध्ययनरत लाभार्थियों से पूछताछ कर रही है। जिसके बाद चेक किया जा रहा है कि छात्रवृत्ति उन्हें मिली या नहीं। इसके लिए बैंकों से संपर्क कर क्रास मिलान किया जा रहा है।

2011-12 में समाज कल्याण विभाग में दशमोत्तर छात्रवृत्ति में अनियमितता की पुष्टि हुई थी। इसके बाद एसआइटी का गठन कर जांच शुरू की गई। पहले चरण में बाहरी राज्यों के 303 शैक्षणिक संस्थानों और उनमें अध्ययनरत 3034 लाभार्थियों की सूची तैयार कर एसआइटी ने पूछताछ की। इस दौरान मिले साक्ष्य के आधार पर एसआइटी ने जिले भर में 60 केस दर्ज कर तीन दर्जन से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया था। जबकि दूसरे चरण में एसआइटी यूएसनगर के 203 शैक्षणिक संस्थान और सवा लाख लाभार्थियों की जांच कर रही है। इसके लिए जसपुर, काशीपुर, बाजपुर, किच्छा, सितारगंज और खटीमा में एसआइटी पूछताछ में जुटी हुई है। अब तक मिले दस्तावेज के आधार पर 20 हजार से अधिक छात्रों से पूछताछ की जा चुकी है, जबकि समाज कल्याण विभाग से ओबीसी के पूरे दस्तावेज अभी एसआइटी को नहीं मिले हैं। लाभार्थियों से हुई पूछताछ के बाद छात्रवृत्ति उनके खातों में आई है या नहीं, इसकी पुष्टि के लिए एसआइटी बैंक खातों से मिलान कर रही है। इसके लिए अलग-अलग बैंकों से संपर्क किया गया है।

39 कालेजों की जांच में नहीं मिली अनियमितता

दशमोत्तर छात्रवृत्ति घोटाले की जांच कर रही एसआइटी को 203 कालेजों की जांच करनी है। अब तक एसआइटी काशीपुर, जसपुर, बाजपुर, खटीमा, नानकमत्ता और सितारगंज के 39 कालेजों की जांच पूरी कर चुकी है। इन कालेज और यहां पर अध्ययनरत लाभार्थियों से पूछताछ में एसआइटी को किसी भी प्रकार की अनियमितता नहीं मिली।

यूएसनगर के 164 कालेजों की भी जांच शुरू

एसआइटी को ऊधमङ्क्षसहनगर के 203 कालेजों और उनमें अध्ययनरत सवा लाख छात्रों की जांच करनी है। 39 कालेजों की जांच पूरी हो चुकी है। ऐसे में 164 कालेज शेष थे। घोटाले की जांच को जल्द से जल्द पूरा करने के अधिकारियों के आदेश के बाद अब सभी 164 कालेजों की जांच एक साथ शुरू कर दी गई है। इसके लिए जसपुर, काशीपुर, बाजपुर, गदरपुर, रुद्रपुर, किच्छा, सितारगंज, नानकमत्ता और खटीमा के कालेजों की जांच 10 निरीक्षक और उप निरीक्षक को सौंप दी गई है।

एसपी सिटी ममता बोहरा ने बताया कि दशमोत्तर छात्रवृत्ति घोटाले की जांच जारी है। 39 कालेजों की जांच पूरी हो चुकी है। जबकि 164 कालेजों की भी जांच शुरू कर दी गई है।

Edited By: Prashant Mishra