रानीखेत, जेएनएन : एटीएम कार्ड का नंबर पूछकर धोखाधड़ी कर खाते से पैसे उड़ा देना तो आम बात है, लेकिन अब ठगी करने वालों ने नया जरिया खोज निकाला है। वे बैंको में छिपकर पता कर रहे हैं कि किसने बैंक ऋण के लिए आवेदन किया है। पता चलते ही संबंधित उपभोक्‍ता का नंबर हासिल कर फोन करते हैं और लोन अप्रूव होने  की बात कहकर खाते से संबंधित पूरी जानकारी ले लेते हैं। जिसके बाद वे खाते से पूरी रकम उड़ा देते हैं। ऐसा ही एक मामला सामने आया है रानीखेत से। जहां जाला गांव निवासी कुबेर सिंह ने बैंक में लोन के लिए आवेदन किया था। वहीं साइबर अपराधियों ने खुद को बैंककर्मी बताकर फोन किया और झांसे में लेकर लोन अप्रूव होने की पूरी जानकारी हासिल कर उनके खाते से 1.6 लाख रुपये निकाल लिए। परेशान परिजनों ने पुलिस को तहरीर देकर मामले में कार्रवाई की मांग की है।

अल्मोड़ा हल्द्वानी हाईवे से सटे जाला (ताड़ीखेत) गांव निवासी बेंगलुरु में निजी कंपनी में कार्यरत कुबेर सिंह ने खैरना (बेतालघाट) स्थित स्टेट बैंक ऑफ इंडिया से वाहन लेने के लिए ऑनलाइन आवेदन किया। कुछ दिन बाद कोलकाता से रोशनी नाम की लड़की का फोन आया और ऋण स्वीकृत होने की बात कही। साथ ही कुबेर से बैंक खाता व मोबाइल नंबर के साथ आइएफएससी कोड भी मांगा गया। कुबेर ने सब कुछ उपलब्ध करा दिया। लेकिन कुछ दिनों के बाद उसके मोबाइल पर बैंक खाते से 1.06 लाख रुपये निकलने का मैसेज आया तो उसके होश उड़ गए।

परिजनों से संपर्क साधा तो सिलीगुड़ी से फिर आया फोन

कुबेर के अनुसार रुपये निकाले जाने के बाबत जब उसने अपने परिजनों से संपर्क साधा तो उसी वक्त सिलीगुड़ी से फोन आया। कहा कि आपके पैसे रिफंड होने हैं, जिसके लिए उसे 45000 रुपये खाते में डालने होंगे। इधर, ठगी का शिकार हुए व्यक्ति के परिजनों ने खैरना चौकी में तहरीर दे मामले में कार्रवाई किए जाने की मांग की है। पत्नी राधा देवी और पिता खड़क सिंह ने बैंक शाखा के कर्मचारियों से भी मामले पर तत्काल कार्रवाई किए जाने की मांग उठाई है।

पैसा भेजो तब होगा 1.06 लाख वापस

बेंगलुरु में निजी कंपनी में कार्यरत कुबेर सिंह के अनुसार पैसे निकाले जाने के बाद भी ठगी करने वाले उन्हें बार-बार फोन कर रहे हैं। पहले 45000 और अब दस पंद्रह हजार रुपये ही कंपनी के खाते में भेजने की बात की जा रही। लगातार फोन किया जा रहा हैं। उन्हें अंदेशा है कि यदि फोन उठाया तो शायद उनके पैसे निकाले जा सकते हैं। डरे सहमे कुबेर अब ठगी करने वालों का फोन भी नहीं उठा रहे। बताया कि ठगी करने वालों में दो युवतियां भी शामिल हैं। खास बात यह है कि दूसरे नंबर से ठगी करने वालों को फोन किया जा रहा है तो वह फोन नहीं उठा रहे।

यह भी पढ़ें : अधिवक्ता सुशील रघुवंशी हत्याकांड के अहम अभियुक्त विनोद लाला की जमानत नामंजूर

यह भी पढ़ें : छात्राओं पर टिप्‍पणी के बाद हुए बवाल में छात्र नेताओं को जेल में गुजारनी पड़ी रात

Posted By: Skand Shukla

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप