जागरण संवाददाता, लोहाघाट (चम्पावत) : नेपाल सीमा से लगे पंचेश्वर के कुसमोद घाट के नगरूघाट शिवनाथ नगर पालिका के समीप काली नदी में नाव पलटने से 13 वर्षीय एक बच्ची की मौत हो गई। जबकि आठ साल का बच्चा लापता है। नाव में सवार तीन लोगों को घटना के तत्काल बाद नाविकों ने नदी से निकाल लिया गया था। घटना की जानकारी के बाद भारत और नेपाल का रेसक्यू दल लगातार खोजबीन में जुटा हुआ है।

बुधवार की देर शाम नेपाल सीमा के पंचेश्वर में नेपाल से पूजा अर्चना कर लौट रहे नेपाली परिवार पर आफतों का पहाड़ टूट पड़ा। पांच लोगों का परिवार नाव में सवार होकर भारत लौट रहा था। लेकिन उफनाती नदी की लहरों में नाव का संतुलन बिगड़ गया और वह पलट गई। नाव में सवार चक्र सिंह (40) पुत्र महेंद्र सिंह, इंद्रा देवी (35) पत्नी चक्र सिंह, मीना (13) पुत्री चक्र सिंह, सागर (10) पुत्र चक्र सिंह, संदीप (8) पुत्र चक्र सिंह, निवासी गोड़ा नेपाल नाव पलटते ही नदी में समा गए। जानकारी के अनुसार घटना के बाद ही चक्र सिंह, इंद्रा देवी और सागर सिंह को नाविकों ने ही नदी से सकुशल निकाल लिया। जबकि मीना का शव बरामद हुआ है। संदीप अभी भी लापता है। नेपाल व भारत की टीमों द्वारा नदी में रेस्क्यू में जुटी हुई है। 

समाचार लिखे जाने तक कोई नेपाल पुलिस, भारत पुलिस, एसएसबी की टीम रेस्क्यू कर रही थी। चक्र सिंह अपने गांव नेपाल में पूजा अर्चना कर परिवार के साथ पंचेश्वर आ रहा था। जहां से उन्हें पंजाब लौटना था। दुर्घटना के समय नाव में 10 लोग सवार बताए जा रहे हैं, जिनमें पांच लोग नाव संचालक थे। घटना की  सूचना मिलते ही एसडीएम केएन गोस्वामी आपदा राहत बचाव टीम के साथ मौके में पहुंच गए हैं। एसडीएम ने बताया नदियों में इस तरह नाव का संचालन अवैध है। उन्होंने पुलिस व एसएसबी को अवैध तरीके से नावों का संचालन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं।

Edited By: Prashant Mishra