हल्द्वानी, जेएनएन : हल्‍द्वानी के लामाचौड़ में काश्तकार पर फायरिंग को लेकर बुधवार रात हड़कंप मच गया। मामला जमीनी विवाद से जुड़ा है। सूचना पर पहुंची पुलिस ने पीडि़त व आसपास के लोगों से घटना की जानकारी जुटाई। काश्तकार का कहना है कि फायरिंग में उसे छर्रे भी लगे। पुष्टि के लिए उसका मेडिकल भी करवाया जा रहा है।

लामाचौड़ के बच्चीनगर नंबर एक निवासी काश्तकार डूंगर देव पाठक ने बताया कि तीन साल पहले उसने चकलुवा के पास वर्ग चार की नौ बीघा जमीन का सौदा किया था। जिसे लेकर कुछ विवाद भी चल रहा है। डूंगर के भतीजे नरेश ने जमीन अब पक्की होने वाली थी। जिससे उसके दाम भी बढ़ते।

नरेश के मुताबिक चकलुवा में जिस व्यक्ति से जमीन खरीदी थी। उसका बेटा लंबे समय से जमीन वापस करने को कह रहा था। जिस पर चाचा डूंगर ने कहा कि तीसरे व्यक्ति से जमीन का सौदा चल रहा है। लिहाजा, उससे बातचीत करने के बाद समझौता होगा। पीडि़त के मुताबिक बुधवार सुबह चकलुवा निवासी व्यक्ति का बेटा घर आ गया। जहां दोनों पक्षों में जमीन को लेकर वार्ता हुई।

रात साढ़े आठ बजे वह दोबारा अपने चार साथियों संग पहुंच गया। इस बीच दोनों पक्षों में गुत्थम-गुथा होने लगी। आरोप है कि इस बीच उसने असलहा निकाल दो फायर झोंक दिया। गनीमत रही कि डूंगर देव पाठक बाल-बाल बच गए। हालांकि, पीडि़त का कहना है कि उसे पेट पर छर्रे भी लगे।

सूचना पर मुखानी पुलिस भी मौके पर पहुंची। जिसके बाद गांव के लोग थाने में जुट गए। फिलहाल पीडि़त पक्ष मुकदमा दर्ज कराने की बात कर रहा है। वहीं, पुलिस मेडिकल कराने में जुटी थी। सीओ हल्द्वानी शांतनु पराशर ने बताया क‍ि  मुखानी पुलिस को मौके पर गोली चलने के साक्ष्य नहीं मिले। उसके बावजूद घटना की गंभीरता से जांच की जा रही है। यह दो पक्षों के बीच जमीनी विवाद का मामला है।

यह भी पढें

देशी शराब की दुकानें न खुलने से आबकारी को हर महीने 2.71 करोड़ रुपये की चपत

 

Posted By: Skand Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस