नैनीताल, जेएनएन : हाईकोर्ट ने देश के सबसे पुराने क्लबों में शामिल देहरादून क्लब के मैनेजमेंट कमेटी को लेकर चल रहे विवाद को सुलझाने के लिये रिटायर्ड जिला जज वी बी राय को आर्बिट्रेटर नियुक्त किया है । इससे पूर्व हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज न्यायमूर्ति एम एम घिल्डियाल आर्बिट्रेटर थे । लेकिन उन्होंने अपने स्वास्थ्य कारणों से 11 जून 2020 को इस्तीफा दे दिया था।

 

मामले के अनुसार देहरादून क्लब के सदस्य प्रदीप दत्ता ने क्लब के मैनेजमेंट कमेटी की कार्यप्रणाली से असंतुष्ट होकर हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी । पूर्व में कोर्ट ने हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज न्यायमूर्ति एम एम घिल्डियाल को क्लब के विवाद सुलझाने के लिये आर्बिट्रेटर नियुक्त किया था । किंतु वर्तमान में कोविड-19 महामारी व अपने स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए उन्होंने इस पद से त्याग पत्र दे दिया ।

 

जिसके बाद दूसरे व्यक्ति को आर्बिट्रेटर नियुक्त करने हेतु प्रदीप बत्रा ने हाईकोर्ट में प्रार्थना पत्र दिया था । जिसकी सुनवाई करते हुए मुख्य न्यायधीश न्यायमूर्ति रमेश रंगनाथन ने पूर्व जिला जज देहरादून निवासी वी बी राय को आर्बिट्रेटर नियुक्त किया है और उनसे 15 दिन के भीतर अपनी सहमति देने, अपने मानदेय व अन्य खर्चों का विवरण मैनेजमेंट कमेटी को देने को कहा है । साथ ही उनसे आर्बिट्रेटर का पद संभालने के छः महीने के भीतर विवाद को सुलझाने को कहा है ।

सीमा पर संचार सेवा के मामले में नेपाल से पिछड़ा भारत, करोड़ों का राजस्व जा रहा नेपाल 

44 साल बाद दोबारा उत्तराखंड पहुंची पहाड़ी बया, असम के काजीरंगा में भी है बसेरा  

 

 

Posted By: Skand Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस