नैनीताल, जेएनएन : लॉकडाउन में उत्तर प्रदेश नौतनवा के विधायक अमनमणि त्रिपाठी को विशेष पास जारी करने के मामले में विधायक अमनमणि समेत अन्य ने जवाब दाखिल करने के लिए टाइम मांगा है। जबकि डीएम देहरादून और डीजीपी उत्तराखंड ने अपना जवाब दाखिल कर दिया है।

हाईकोर्ट में दाखिल जवाब में डीएम ने अपर मुख्य सचिव का बचाव करते हुए पास का ठिकरा एडीएम देहरादून के सर फोड़ा है। कहा है कि स्पेशल पास एडीएम देहरादून द्वारा जारी किया है ना कि अपर मुख्य सचिव द्वारा। कोर्ट ने अब अन्य पक्षकारों को जवाब दाखिल करने के लिए 10 दिन का समय दिया है । कोर्ट अब सात जुलाई को मामले की अगली सुनवाई करेगा।

 

यूपी के नौतनवा विधायक बाहुबली नेता अमरमणि त्रिपाठी के पुत्र अमनमणि को दो से सात मई तक केदारनाथ व बद्रीनाथ का पास जारी किया गया था। स्पेशल पास में तीन वाहनों को अनुमति दी गयी थी। जिसमे यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पिता के पित्र कर्म हेतु इन धामों में जाने की अनुमति दी गयी थी।

 

अब इस मामले की सीबीआई जांच के लिए हाई कोर्ट में जनहित याचिका दाखिल की है। कहा है कि अपर मुख्य सचिव जो मुख्यमंत्री के सचिव भी हैं , ने अपने पद का दुरुपयोग कर तथा भारत सरकार की गाईडलाईन का उलंघन करते हुए अमनमणि समेत 11 लोगों को स्पेशल पास जारी किया। याचिकाकर्ता द्वारा मुख्य सचिव और डीजीपी से लिखित शिकायत करने के बाद भी राज्य सरकार द्वारा अपर मुख्य सचिव पर कोई कार्रवाई नहीं कि गयी, लिहाजा ऐसे मामले की सीबीआई जांच हो ,दोषी पर कोठोर कार्रवाई की जाए।

Posted By: Skand Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस