हल्द्वानी, जेएनएन : राजकीय पॉलीटेक्निक कॉलेजों से हटाए गए संविदा शिक्षकों ने नेता प्रतिपक्ष डॉ. इंदिरा हृदयेश से मुलाकात कर कहा कि सात से दस साल नौकरी करने के बाद 230 शिक्षकों को झटके में हटा दिया गया। जिससे उन लोगों के समक्ष आर्थिक संकट खड़ा हो चुका है। नेता प्रतिपक्ष को ज्ञापन सौंपा पॉलीटेक्निक शिक्षकों ने कहा कि उनके साथ-साथ 13 हजार छात्रों के भविष्य को देखते हुए दोबारा नौकरी पर बहाल किया जाना चाहिए।

नेता प्रतिपक्ष डॉ. इंदिरा हृदयेश ने कहा कि मामले को लेकर मुख्य सचिव से वार्ता की गई है। उन्हें बताया गया कि शिक्षकों की कमी के कारण इन कॉलेजों में सुचारू तौर पर पढ़ाई नहीं हो सकेगी। दूसरा इन संविदा शिक्षकों के समक्ष परिवार पालने का संकट खड़ा हो चुक है। ऐसे में सरकार को जल्द इनकी समस्या का समाधान करते हुए दोबारा नियुक्ति देनी चाहिए। नेता प्रतिपक्ष ने बताया कि मामले में मुख्य सचिव ने उचित कार्यवाही का आश्वासन दिया है।

अलकायदा एजेंट इनामुल का उत्तराखंड से भी कनेक्शन, पुलिस व खुफिया एजेंसियां कर सकती हैं पूछताछ  

भारत के विरोध में जहर उगल रहे नेपाली एफएम, कालापानी, लिपुलेख और लिंपियाधुरा को बता रहा अपना 

 

Posted By: Skand Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस