हल्द्वानी, जेएनएन : वन आरक्षी भर्ती लिखित परीक्षा की दूसरी पाली का प्रश्नपत्र और ओएमआर शीट परीक्षा के चंद घंटे बाद ही सोशल मीडिया में वायरल हो गया। फेसबुक पर इसकी फोटो देखने के बाद युवाओं का पारा चढ़ गया। इसी के साथ परीक्षा की पारदर्शिता पर सवाल भी उठने लगे हैं। कई युवाओं ने तो पर्चा लीक होने के कयास लगाए। इधर, आयोग ने फोटो की जांच करने की बात कही है।

परीक्षा खत्म होते ही ओएमआर की फोटो फेसबुक पर टैग

रविवार को उत्तराखंड में वन आरक्षी (फॉरेस्ट गार्ड) भर्ती के लिए लिखित परीक्षा 13 जिलों के 188 परीक्षा केंद्रों में हुई। दो पालियों में करीब 99 हजार अभ्यर्थी परीक्षा में शामिल हुए। दूसरी पाली की परीक्षा दोपहर दो से शाम चार बजे तक हुई। परीक्षा खत्म होने के कुछ घंटे बाद ही इसके ओएमआर की फोटो फेसबुक पर टैग कर दी गई। इसका कैप्शन 'फॉरेस्ट गार्ड में फुल चीटिंग' लिखा गया था। इस फोटो में एक युवक के दाएं हाथ का कुछ हिस्सा दिख रहा है, जिसके नीचे ओएमआर शीट और एक प्रश्नपत्र रखा हुआ है। डी-5 नंबर के इस प्रश्नपत्र में 42 से 49 तक के क्रमांक में सवाल दिख रहे हैं। ये सवाल वन आरक्षी भर्ती लिखित परीक्षा की शाम की पाली के प्रश्नपत्र से मेल खा रहे हैं।

परीक्षा केंद्र में मोबाइल ले जाने की अनुमति नहीं थी

फेसबुक में इस पोस्ट को देखने के बाद युवाओं ने कमेंट कर कई सवाल उठाए। लिखा कि जब परीक्षा केंद्र में मोबाइल ले जाने की अनुमति नहीं थी तो फिर कैसे ओएमआर और प्रश्नपत्र की फोटो खींची गई। यही नहीं, युवाओं ने आरोप लगाया कि जिस परीक्षा केंद्र में ये फोटो ली गई है, वहां जरूर पर्चा लीक किया गया होगा। उन्होंने इसे युवाओं के साथ खिलवाड़ करार दिया।

मामला बढऩे पर डिलीट कर दी पोस्ट

फेसबुक में इस पोस्ट के कुछ घंटों तक इस मामले में जमकर प्रक्रियाएं आईं। बाद में मामला बढऩे के बाद पोस्ट करने वाले युवक ने इसे डिलीट कर दिया।

परीक्षा केंद्र का नहीं चला पता

फेसबुक में डाली गई इस पोस्ट से परीक्षा केंद्र का पता नहीं चल पाया है। पोस्ट करने वाले युवक से संपर्क साधने की कोशिश की गई, मगर मोबाइल नंबर स्विच ऑफ मिला।

आयोग करेगा जांच

वहीं, उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग के सचिव संतोष बडोनी ने बताया कि फेसबुक में पोस्ट की गई फोटो की जांच की जाएगी। पता लगाया जाएगा कि ये फोटो किस परीक्षा केंद्र की है और कैसे मोबाइल परीक्षा केंद्र तक पहुंचा। बडोनी ने कहा कि प्रथम दृष्टया मामला फोटो से छेड़छाड़ का लग रहा है। यह आयोग की छवि धूमिल करने का प्रयास हो सकता है।

वन आरक्षी भर्ती परीक्षा में उत्तराखंड से संबंधित 30 प्रश्नों ने छुड़ाए पसीने

उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग की ओर से रविवार को हल्द्वानी के 20 परीक्षा केंद्रों में वन आरक्षी (फारेस्ट गार्ड) भर्ती लिखित परीक्षा कराई गई। अभ्यर्थियों ने बताया कि वन आरक्षी लिखित परीक्षा प्रश्न पत्र में हिंदी, अंग्रेजी के प्रश्न तो आसान लगे। लेकिन, उत्तराखंड के इतिहास, भूगोल व संस्कृति से संबंधित करीब 30 प्रश्न काफी मुश्किल रहे। अधिकांश प्रश्न घुमा-फिरा कर पूछे गए थे। जग्वाल गढ़वाली फिल्म के निर्देशक, चंद्र शासक, कत्यूरी शासन, यशोधर मठपाल, उत्तराखंड में 108 सेवा, स्पेशल टाइगर प्रोटेक्शन फोर्स से संबंधित सवालों ने पसीने छुड़ा दिए।

यह भी पढ़ें : फारेस्ट गार्ड के लिए आयोजित राज्य की सबसे बड़ी भर्ती परीक्षा से 56 हजार अभ्यर्थी गायब

यह भी पढ़ें : मुंबई की लोकल ट्रेन का आनंद अब उठाइए टनकपुर में, आज से शुरू हो रही व्‍यवस्‍था

Posted By: Skand Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस