नैनीताल, जेएनएन : अदालती आदेश के बहाने उत्पीडऩ करने का आरोप लगाते हुए नैनीताल जेल में कैदी ने भूख हड़ताल शुरू कर दी है। उसका आरोप है कि बगैर सम्मन कोर्ट में गैर हाजिर दिखाकर उसे पेशी के लिए गिरफ्तार कर लिया गया। कैदी ने हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश, रजिस्ट्रार जनरल को संबोधित शिकायत भेजकर इसे न्यायिक भ्रष्टाचार बताते हुए भूख हड़ताल की सूचना दी है। साथ ही मानवाधिकार आयोग को भी प्रकरण की जानकारी दी है। कैदी की भूख हड़ताल से जेल प्रशासन में हड़कंप मचा है। उसके हेल्थ चेक अप के लिए अस्पताल से डॉक्टर बुलाने की तैयारी की जा रही है।

आमदनी से कई गुना भरण-पोषण का आरोप

जेल सूत्रों के अनुसार ढिकुली रामनगर व हाल मोहान निवासी कैलाश खुल्बे पुत्र दयाकिशन खुल्बे को तीन माह की सजा सुनाई गई है। साथ ही भरण-पोषण का जुर्माना लगाया गया है। उसने अदालती फैसलों को उत्पीडऩ करार देते हुए कहा कि जब तक उसके साथ न्याय नहीं होगा वह भूख हड़ताल खत्म नहीं करेगा। कैलाश का कहना है कि उस पर आमदनी से कई गुना अधिक भरण-पोषण वाद में जुर्माना लगाया गया है। उसने मुख्य न्यायाधीश को पत्र भेजकर अविलंब रिहा करने की मांग की है। आरोप लगाया कि न्यायिक भ्रष्टïाचार कर उससे अवैध वसूली का प्रयास किया जा रहा है। जेलर रमेश चंद्र ने कैदी कैलाश के भूख हड़ताल पर बैठने की पुष्टिï करते हुए कहा कि सोमवार को उसका डॉक्टर से चेकअप कराया जाएगा।

यह भी पढ़ें : नाबालिग किशोरी को भगाने का आरोपित युवक बाजपुर कोतवाली से हथकड़ी समेत फरार

यह भी पढ़ें : रुद्रपुर कानूनगो जमीन विवाद मामले में डेढ़ माह से हवालात में, बेटे ने खोला राज 

Posted By: Skand Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस