बागेश्वर, जेएनएन :  शनिवार की सुबह कुमाऊं में भूकंप के झटके महसूस हुए। सुबह 6:31 बजे आए भूकंप की तीव्रता रिक्टर स्केल पर 4.7 मैग्नीट्यूड आंकी गई है। भूकंप का केंद्र बागेश्वर जिले के कपकोट तहसील का गोगिना क्षेत्र था। बागेश्वर में अधिक प्रभाव होने से दो मकान क्षतिग्रस्त हो गए और दो लोग घायल हो गए। कपकोट क्षेत्र में कई घरों में दरारें पड़ गई हैं। झटके से लोग घरों से बाहर निकल आए और अफरातफरी का माहौल रहा। पिथौरागढ़, अल्मोड़ा, भीमताल में भूकंप के झटके महसूस हुए, लेकिन कोई नुकसान नहीं हुआ। बागेश्वर जिले दुग नाकुरी तहसील में भूकंप के झटकों से किड़ई गांव निवासी लच्छी राम का मकान का एक हिस्सा गिर गया। तब उनका परिवार सोया हुआ था। मकान कच्चा होने से पत्थरों की चपेट में आकर उनकी पत्नी बसंती देवी व 11 वर्षीय बेटी रीता घायल हो गई। जिनका जिला अस्पताल लाकर उपचार कराया गया।

मकान गिरे, बालबाल बचे लोग

उपजिलाधिकारी कपकोट प्रमोद कुमार के अनुसार भूकंप से नंदन ङ्क्षसह निवासी ग्राम पोङ्क्षथग, ग्राम असों के उमेद ङ्क्षसह व राजन ङ्क्षसह के मकान आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त हो गए हैं। जिसकी तकनीकि जांच की जा रही है। वहीं कपकोट तहसील के फरसाली वल्ली गांव में कुंदन राम, नंदन उपाध्याय, शेर राम आदि के मकानों में दरारें पड़ गईं हैं। कपकोट में कुछ दिन बना हाइटेक शौचालय भी टूटने के कगार पर पहुंच गया है। दीवारों में दरारें आने से उसका इस्तेमाल भी शनिवार की सुबह नहीं हो सका है।

डीएम ने जारी किया अलर्ट

भूकंप के झटके महसूस होने पर जिलाधिकारी रंजना राजगुरु ने तत्काल आपदा कंट्रोल रूम में पहुंचकर सभी आइआरएस टीम को अलर्ट जारी किया। आपदा कंट्रोल रूम में अधिकारियों की बैठक आयोजित की गई ओर उन्हें दिशा-निर्देश दिए। वहीं भूकंप प्रभावितों को जिला प्रशासन ने 3800 रुपये की अहेतुक धनराशि, दो कंबल और राहत किट वितरित की।

यह भी पढ़ें : भूकंप से डोली उत्‍तराखंड की धरती, 4.7 रिक्‍टर स्‍केल की थी तीव्रता, बागेश्‍वर का गोगिना रहा केंद्र

Posted By: Skand Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस